ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशचंद्रबाबू नायडू, भाजपा और जन सेना की तिकड़ी जगन रेड्डी से छीनेगी सत्ता? एग्जिट पोल क्या कह रहा

चंद्रबाबू नायडू, भाजपा और जन सेना की तिकड़ी जगन रेड्डी से छीनेगी सत्ता? एग्जिट पोल क्या कह रहा

एग्जिट पोल में जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगता दिख रहा है। वाईएसआरसीपी को 55 से 77 सीटें मिलने की उम्मीद है, जो 2019 की तुलना में कम है।

चंद्रबाबू नायडू, भाजपा और जन सेना की तिकड़ी जगन रेड्डी से छीनेगी सत्ता? एग्जिट पोल क्या कह रहा
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,हैदराबादMon, 03 Jun 2024 01:08 AM
ऐप पर पढ़ें

आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर हुए एग्जिट पोल बीजेपी के नेतृत्व वाले NDA के लिए जीत का संकेत दे रहे हैं। इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल के मुताबिक, राजग गठबंधन को कुल 175 में से 98-120 सीटें मिल सकती हैं। चंद्रबाबू नायडू की तेलुगु देशम पार्टी (TDP) और पवन कल्याण की जन सेना पार्टी (JSP) राज्य में मजबूत वापसी के लिए तैयार हैं। एग्जिट पोल बताते हैं कि टीडीपी 78-96 सीटें हासिल करके सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने वाली है। यहां बीजेपी के खाते में 4-6 सीटें जा सकती हैं। जेएसपी को 16-18 सीटों पर जीत मिलती नजर आ रही है।

एग्जिट पोल में जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगता दिख रहा है। वाईएसआरसीपी को 55 से 77 सीटें मिलने की उम्मीद है, जो 2019 के चुनावों में 151 की तुलना में बड़ी गिरावट है। अगर कांग्रेस के नेतृत्व वाले इंडिया गठबंधन की बात करें उसे आंध्र प्रदेश में 0-2 सीटें मिलने का अनुमान है। इस गठबंधन में कांग्रेस के 159 और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी (CPM) के 8-8 उम्मीदवार शामिल हैं। एग्जिट पोल इशारा करते हैं कि NDA को 2019 चुनावों की तुलना में 85 सीटें अधिक मिलने वाली है। YSRCP की सीटों की संख्या में गिरावट आ सकती है।
 
6 फीसदी तक घट सकता है YSRCP को वोट प्रतिशत 
गौरतलब है कि टीडीपी 2019 में एनडीए का हिस्सा नहीं थी। साथ ही, अभिनेता से नेता बने पवन कल्याण की जेएसपी राज्य में नई राजनीतिक हलचल है। वोट शेयर के हिसाब से देखें तो एनडीए को 5 फीसदी का फायदा हो सकता है। इंडिया गठबंधन को 1 फीसदी की मामूली बढ़त दिख रही है। वाईएसआरसीपी का वोट शेयर 6 फीसदी तक घटने का अनुमान है। आंध्र प्रदेश में चुनाव प्रचार के दौरान राज्य के लिए विशेष श्रेणी का दर्जा, राजधानी की स्थिति, भ्रष्टाचार के आरोप और बेरोजगारी जैसे प्रमुख मुद्दे सामने आए। राज्य विधानसभा का चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ ही 13 मई को हुआ था। YSRCP ने आंध्र प्रदेश की सभी 175 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ा। NDA के तहत टीडीपी ने 144, जेएसपी ने 21 सीटों पर और भाजपा ने 10 निर्वाचन क्षेत्रों में उम्मीदवार उतारे थे।