DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › आंध्र प्रदेश: विशाखापट्टनम में केमिकल प्लांट से जहरीली गैस लीक, 8 लोगों की मौत और 1000 से अधिक बीमार
देश

आंध्र प्रदेश: विशाखापट्टनम में केमिकल प्लांट से जहरीली गैस लीक, 8 लोगों की मौत और 1000 से अधिक बीमार

लाइव हिन्दुस्तान टीम,विशाखापटनम Published By: Shankar
Thu, 07 May 2020 10:03 AM
आंध्र प्रदेश: विशाखापट्टनम में केमिकल प्लांट से जहरीली गैस लीक, 8 लोगों की मौत और 1000 से अधिक बीमार

आंध्र प्रदेश में एक केमिकल प्लांट से जहरीली गैस के रिसाव होने खबर है। विशाखापट्टनम के आरएस वेंकटपुरम गांव में एलजी पॉलिमर इंडस्ट्री प्लांट में केमिकल गैस के लीक होने से करीब 8 लोगों की मौत हो गई। वहीं, इस जहरीली गैस से करीब 1000 से अधिक लोग बीमार हो चुके हैं। गैस के रिसाव के बाद पूरे इलाके को खाली कराया जा रहा है। हाालंकि, आंध्र प्रदेश के डीजीपी गौतम सवांग ने जहरीली गैस के रिसाव से 6 मौतों की पुष्टि की है, मगर अपुष्ट रिपोर्ट में 8 लोगों के मरने की बात बताई जा रही है। 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गैस रिसाव के चलते आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद लोगों को अस्पताल ले जाया जा रहा है। मौके पर पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम पहुंची हुई है। बताया जा रहा है कि कई लोग अस्पताल में भर्ती किए जा रहे हैं। गोपालपट्टनम के एलजी पॉलीमर्स लिमिटेड में सुबह करीब 3 बजे यह हादसा हुआ, जब आसपास की कॉलोनियों के लोग सो रहे थे।

वेस्ट जोन की एसीपी स्वरूपा रानी ने बताया कि केमिकल गैस का यह रिसाव करीब 3 किलोमीटर में फैल गया है। गैस रिसाव की घटना सुनकर कई लोग मौके पर पहुंचे, मगर आंखों में जलन और गैस की तीखी गंध को सहन करने में असमर्थ लोग सड़कों पर भरभरा कर गिर गए। इस जहरीली गैस का असर इतना ज्यादा है कि बड़ी संख्या में लोग अपने घरों में ही बेहोश हो गए। इनमें ज्यादातर बच्चे और बूढ़े हैं। यह जानकारी स्वरूपा रानी ने दी। 

एजेंसी ने कुछ तस्वीरें जारी की हैं, जिनमें देखा जा सकता है कि गैस रिसाव की वजह से कैसे लोगों को बुरा हाल हो चुका है। लोगों को हालत गंभीर बताई जा रही है और आस-पास के इलाके में गैस फैल गया है, जिसके बाद लोगों को सांस लेने और आंखों में जलन की शिकायत है। 

बताया जा रहा है कि गैस करीब 20 गावों तक फैल चुका है और लोगों को सांस लेने में दिक्कतें हो रही हैं। जिला कलेक्टर विनय चंद ने संवाददाताओं को बताया कि दम घुटने के कारण लगभग 200 लोग बीमार पड़ गए। कई लोग अपने घरों में कैद हैं। अधिकारियों ने लोगों को दोपहर तक गोपालपट्टनम की ओर न जाने की सलाह दी।

संबंधित खबरें