DA Image
7 अप्रैल, 2020|5:49|IST

अगली स्टोरी

ट्रंप के भारत दौरे से ज्यादा उम्मीदें ना पालें, आज कुछ कहते हैं कल कुछ और: आनंद शर्मा

Congress leader Anand Sharma photo-ht

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस के नेता आनंद शर्मा ने रविवार को कहा कि अभी तक ऐसे कोई सकारात्मक संकेत नहीं हैं कि इस यात्रा का कोई महत्वपूर्ण परिणाम होगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप 24 से 25 फरवरी तक भारत की यात्रा पर रहेंगे।

शर्मा ने कहा कि यात्रा इस तथ्य के मद्देनजर महत्वपूर्ण है कि अमेरिका एक बड़ी शक्ति है, लेकिन केवल इतना ही है। पूर्व विदेश मंत्री शर्मा ने पीटीआई से कहा, ''अभी तक मुझे किसी प्रमुख नतीजे का कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिला है। यह रक्षा एवं सुरक्षा सहयोग और अंतरिक्ष एवं परमाणु विज्ञान में हमारे सहयोग की पुन: पुष्टि होगी। यह चल रहा है और यह कोई नई बात नहीं होगी।"

नमस्ते ट्रंप: परिवार के साथ भारत के लिए रवाना हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, जानें पूरा शेड्यूल

उन्होंने दावा किया कि यात्रा के दौरान न कोई व्यापार समझौता होगा न ही सामान्यीकृत वरीयता प्रणाली (जीएसपी) के तहत भारत के दर्जे की बहाली होगी, जो पूर्व में थी। उन्होंने कहा, ''कोई व्यापार समझौता नहीं होगा। मिल रहे संकेतों और अमेरिका के नकारात्मक बयानों को देखते हुए जीएसपी की बहाली नहीं होने जा रही।"

शर्मा ने कहा, ''भारत को विकसित देशों की सूची में डालकर, अमेरिका उन पहुंचों के साथ ही एच1बी वीजा में काफी कटौती करेगा जो भारत को एक विकासशील देश के तौर पर उपलब्ध थे क्योंकि अमेरिका का कोटा है। इसलिए देखते हैं। एक हेलीकाप्टर सौदे के अलावा कुछ भी दिखायी नहीं दे रहा है।"

उन्होंने कहा कि ''हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि क्या कोई परिणाम सामने आते हैं।" राज्यसभा में कांग्रेस के उपनेता शर्मा ने कहा, ''अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप आज एक संदेश देंगे और कल दूसरा संदेश देंगे। उन्होंने पूर्व में ऐसा किया है। मत भूलिए कि ह्यूस्टन में 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम के बाद कैसे वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मिले थे। इसलिए हमें इंतजार करना होगा। उन्होंने कहा, ''वे (अमेरिका) जो अफगानिस्तान में कर रहे हैं उसके लिए उन्हें पाकिस्तान की भी जरूरत है।"

'नमस्ते ट्रंप' ईवेंट से पहले साबरमती आश्रम जाएंगे डोनाल्ड ट्रंप

शर्मा ने कहा कि ट्रंप की यात्रा को चीन की बढ़त को संतुलित करने के एक प्रयास के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए। कांग्रेस नेता ने कहा, ''चीन हमसे पांच गुणा बड़ा है। भारत ऐसी स्थिति में नहीं कि संतुलन बना सके। अमेरिका के चीन के साथ अपने समीकरण हैं (जिसे) किसी को भूलना नहीं चाहिए। वे बातें करते हैं लेकिन जल्दी ही समझौते कर लेते हैं। उनके व्यापार समझौते हैं। देखते हैं।"

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Anand Sharma On Donald Trump India visit Do not have positive indications of major outcomes