ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशअब बदल जाएगी 550 रेलवे स्टेशनों की तस्वीर, इन सुविधाओं से होंगे लैस; पीएम मोदी कब करेंगे शुरुआत

अब बदल जाएगी 550 रेलवे स्टेशनों की तस्वीर, इन सुविधाओं से होंगे लैस; पीएम मोदी कब करेंगे शुरुआत

पीएम मोदी 40,000 करोड़ रुपये की लागत से ‘रूफ प्लाजा’ और सिटी सेंटर विकसित करके रेलवे स्टेशनों पर सुविधाओं में सुधार के लिए 550 अमृत भारत स्टेशनों की आधारशिला रखेंगे।

अब बदल जाएगी 550 रेलवे स्टेशनों की तस्वीर, इन सुविधाओं से होंगे लैस; पीएम मोदी कब करेंगे शुरुआत
Himanshu Tiwariएजेंसियां,नई दिल्लीThu, 22 Feb 2024 07:05 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 26 फरवरी को 40,000 करोड़ रुपये की लागत से ‘रूफ प्लाजा’ और सिटी सेंटर विकसित करके रेलवे स्टेशनों पर सुविधाओं में सुधार के लिए 550 अमृत भारत स्टेशनों की आधारशिला रखेंगे। रेलवे के अधिकारियों के मुताबिक, प्रधानमंत्री एक समारोह के दौरान विभिन्न राज्यों में सड़कों पर लगभग 1,500 ओवरब्रिज और अंडरब्रिज की आधारशिला भी रखेंगे। समारोह में 2,000 से अधिक रेलवे स्टेशनों को डिजिटल माध्यम से शामिल होंगे। प्रधानमंत्री वीडियो कांफ्रेंस के जरिए समारोह में शामिल होंगे।

इस समारोह के दौरान लगभग 50,000 स्कूली छात्रों को भी पुरस्कार दिए जाएंगे। इन छात्रों ने भारतीय रेलवे द्वारा 4,000 स्कूलों में आयोजित ‘2047-विकसित भारत की रेलव’ विषय पर भाषण, निबंध और कविता लेखन प्रतियोगिताओं में भाग लिया था। लगभग चार लाख छात्रों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया था और समारोह के दौरान मंडल रेल प्रबंधकों और वरिष्ठ रेलवे अधिकारियों द्वारा लगभग 50,000 पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे।

रूफ प्लाजा का होगा निर्माण
अमृत भारत स्टेशन योजना भारतीय रेलवे के स्टेशनों को विकसित करने के लिए शुरू की गई थी। ‘रूफ प्लाजा’ की परिकल्पना स्टेशनों की छत या ऊपरी हिस्सों में फूड कोर्ट, छोटे बच्चों के खेलने के लिए छोटी-सी जगह और स्थानीय उत्पादों की बिक्री के लिए एक स्थान के रूप में विकसित करने के रूप में की गई है।

इन सुविधाओं से लैस होंगे स्टेशन
इसमें स्टेशनों तक पहुंच, प्रतीक्षालयों, शौचालयों, लिफ्ट या एस्केलेटरों में सुधार, स्वच्छता, मुफ्त वाईफाई, ‘एक स्टेशन, एक उत्पाद’ जैसी योजनाओं के माध्यम से स्थानीय उत्पादों के लिए कियोस्क, बेहतर यात्री सूचना प्रणाली के माध्यम से स्टेशनों पर सुविधाओं में सुधार के लिए मास्टर प्लान तैयार करना और चरणों में उनका कार्यान्वयन शामिल है। इस योजना में प्रत्येक स्टेशन पर आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए कार्यकारी लाउंज और व्यावसायिक बैठकों के विशिष्ट स्थान का निर्माण भी शामिल है।

विकलांग लोगों के लिए होंगी सुविधाएं
इसमें भवनों के सुधार, स्टेशनों को शहरों के दोनों ओर एकीकृत करने, मल्टीमॉडल एकीकरण, विकलांग व्यक्तियों के लिए सुविधाएं, गिट्टी रहित पटरियों के प्रावधान, आवश्यकता के अनुसार रूफ प्लाजा, चरणबद्धता और व्यवहार्यता और दीर्घावधि में स्टेशन पर सिटी सेंटर के निर्माण की परिकल्पना की गई है। इस योजना में निधियों की उपलब्धता और मौजूदा परिसंपत्तियों की स्थिति के अनुसार सतत और पर्यावरण अनुकूल समाधानों के लिए क्रमिक बदलाव की परिकल्पना की गई है।

उच्च स्तरीय प्लेटफॉर्म किया जाएगा तैयार
सुगम पहुंच सुनिश्चित करने के लिए, इसमें सड़कों को चौड़ा करने, अवांछित संरचनाओं को हटाने, ठीक से डिजाइन किए गए संकेतक, समर्पित पैदल रास्ते, सुनियोजित पार्किंग क्षेत्र और बेहतर प्रकाश व्यवस्था का भी प्रस्ताव है। इस योजना के तहत सभी श्रेणी के स्टेशनों पर उच्च स्तरीय प्लेटफार्म (760 से 840 मिलीमीटर) की परिकल्पना की गई है। योजना के अनुसार, प्लेटफार्मों की लंबाई आम तौर पर 600 मीटर होगी। जोनल रेलवे और प्रमुख शहरों और कस्बों में स्थित स्टेशनों से प्राप्त प्रस्तावों के आधार पर अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत अब तक 1,318 स्टेशनों का चयन किया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें