DA Image
Tuesday, November 30, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देश‘यह आखिरी हमला नहीं है’, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ISIS-K को दी चेतावनी

‘यह आखिरी हमला नहीं है’, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ISIS-K को दी चेतावनी

भाषा, वॉशिंगटनDeepak
Sun, 29 Aug 2021 01:16 AM
‘यह आखिरी हमला नहीं है’, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ISIS-K को दी चेतावनी

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने शनिवार को इस्लामिक स्टेट खोरासान को कड़े शब्दों में चेतावनी दी। काबुल एयरपोर्ट के बाहर हवाई हमला कर दो आईएसआईएस-के लड़ाकों को मौत के घाट उतारने के बाद जो बाइडेन का यह बयान आया है। पेंटागन का दावा है कि इन हमलों की चपेट में कोई भी आम नागरिक नहीं आया है। अमेरिकी प्रेसीडेंट ने इसके साथ ही यह भी कहा कि अफगानिस्तान में हालात लगातार खराब हो रहे हैं।

काबुल हमले के दोषियों को कीमत चुकानी होगी
जो बाइडेन ने कहा कि काबुल एयरपोर्ट के बाहर हुए सुसाइड हमले का बदला लिया जाएगा। हमारी तरफ से यह आखिरी हमला नहीं था। उन्होंने कहा कि हम लगातार ढूंढते रहेंगे। काबुल हमले के जो भी दोषी हैं, उन्हें इसकी कीमत चुकानी ही पड़ेगी। बाइडेन ने आगे कहा कि मेरे कमांडोज ने जानकारी दी है कि अगले 24 से 36 घंटे में फिर हमला हो सकता है। मैंने उन्हें निर्देश दिया है कि सेना की रक्षा के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। 

हमले में दो साजिशकर्ताओं की मौत 
इससे पूर्व अमेरिकी सेना ने शनिवार को कहा कि उसने अफगानिस्तान में एक ड्रोन हमला किया, जिसमें इस्लामिक स्टेट के दो साजिशकर्ताओं की मौत हो गई। हाल में काबुल हवाई अड्डे पर आत्मघाती धमाकों में 169 अफगान और 13 अमेरिकी सैनिकों की मौत के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने जवाबी कार्रवाई करने का वादा किया था। अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट से संबद्ध 'इस्लामिक स्टेट-खुरासान (आईएसआईएस-के) ने काबुल में हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर बृहस्पतिवार को हुए हमलों की जिम्मेदारी ली थी। ज्वाइंट स्टॉफ फॉर रीजनल ऑपरेशंस के उप निदेशक मेजर जनरल हैंक टेलर ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा कि आईएसआईएस के दो हाई-प्रोफाइल सदस्य मारे गए, और एक घायल हो गया। और इसमें कोई भी नागरिक हताहत नहीं हुआ है।

बदला लेने की जताई थी प्रतिबद्धता
इससे पहले व्हाइट हाउस ने कहा था कि राष्ट्रपति जो बाइडन काबुल हवाई अड्डे पर हमला करने वाले आतंकवादियों को जिंदा नहीं छोड़ना चाहते। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने अपने नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि मुझे लगता है कि उन्होंने कल यह स्पष्ट कर दिया वह हमले के जिम्मेदार लोगों को जिंदा नहीं छोड़ना चाहते। अमेरिकी राष्ट्रपति ने हमले में मारे गए 13 अमेरिकी सैनिकों की मौत का बदला लेने की प्रतिबद्धता जतायी थी। बाइडन ने बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस में कहा था कि जिन्होंने यह हमला किया और साथ ही जो अमेरिका को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं, उन्हें बता दूं कि हम उन्हें बख्शेंगे नहीं। हम भूलेंगे नहीं। हम तुम्हें मार गिराएंगे और तुम इसकी कीमत चुकाओगे। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें