DA Image
30 जुलाई, 2020|1:18|IST

अगली स्टोरी

चीन पर अमेरिका का तीखा हमला, कहा- आक्रमकता से दिखती है ड्रैगन की असली सोच

america

व्हाइट हाउस ने बुधवार को चीन के भारत के साथ चल रहे सीमा टकराव पर तीखी टिप्पणियों में ड्रैगन की 'आक्रामकता' को  दोषी ठहराया है। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव Kayleigh McEnany ने दैनिक ब्रीफिंग में राष्ट्रपति को कोट करते हुए कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि भारत-चीन सीमा पर ड्रैगन का आक्रामक रुख दुनिया के अन्य हिस्सों में चीनी आक्रामकता के एक बड़े पैटर्न के साथ फिट बैठता है और ये कार्रवाई चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की वास्तविक प्रकृति की पुष्टि करता है।

व्हाइट हाउस ने 15 जून की घातक झड़पों के बाद कहा था कि वह स्थिति की "बारीकी से निगरानी" कर रहा था।  प्रेस सचिव ने भारतीय सैनिकों की मौत पर शोक व्यक्त किया और अमेरिका ने स्थिति के 'शांतिपूर्ण समाधान' की उम्मीद की। मैकएनी ने कहा कि व्हाइट हाउस ने अभी भी इस मुद्दे को नहीं छोड़ा था। भारत और चीन दोनों ने ही गलत इच्छा व्यक्त की है और हम वर्तमान स्थिति के शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करते हैं।

यह एक शेपर स्थिति को दर्शाता है जो व्हाइट हाउस के आसपास विकसित हो रहा था और बाहर, विशेष रूप से राज्य सचिव माइक पोम्पिओ द्वारा निर्धारित किया गया था। यह भारत-चीन सीमा मुद्दे को दक्षिण चीन सागर में और दुनिया में कहीं और चीनी आक्रामक व्यवहार के बड़े संदर्भ में रखता है।

भारत और चीन के बीच बीते मई की शुरुआत से ही एलएसी पर सीमा विवाद को तनाव चल रहा है। यह तनाव पिछले महीने 15 जून को तब और बढ़ गया, जब पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी। इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, तो वहीं चीन के कमांडर समेत 40 से ज्यादा सैनिक मारे गए थे। दोनों देशों के बीच उपजे तनाव को कम करने के लिए दोनों देश के शीर्ष सैन्य अधिकारी कई बार बैठक कर चुके हैं, लेकिन चीन के धोखेबाजी के चलते अभी तक पूरी तरह से सफलता नहीं मिली है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:America s scathing attack on China said aggressively shows the real thinking of the dragon