DA Image
5 मार्च, 2021|1:46|IST

अगली स्टोरी

अलवर गैंगरेप मामला: बसपा सुप्रीमो मायावती बोलीं, SC को कांग्रेस सरकार के खिलाफ करनी चाहिए कार्रवाई

mayawati

राजस्थान के अलवर जिले में पति के सामने पत्नी से गैंगरेप मामले में बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि दोषी को फांसी की सजा दी जानी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट को राज्य में कांग्रेस सरकार, पुलिस और प्रशासन के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। यह मामला सिर्फ दलितों से नहीं बल्कि सभी महिलाओं से जुड़ा है। आपको बता दें कि गैंगरेप और घटना का वीडियो वायरल करने के मामले के छठे आरोपी को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। 

मायावती ने कहा है कि चुनाव आयोग उन नेताओं के खिलाफ उचित कार्रवाई नहीं कर रहा है जो लोकसभा चुनावों के दौरान महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी कर रहे है। 

राहुल के PM बनने के सवाल पर प्रियंका गांधी ने दिया ये जवाब

इस मामले में पुलिस महानिरीक्षक (जयपुर ग्रामीण) एस सेंगाथिर ने बताया कि महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले के छठे आरोपी छोटे लाल गुर्जर को गुरुवार को प्रागपुरा से गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी का पहले भी लूट और मारपीट का आपराधिक रिकॉर्ड है।  उन्होंने बताया कि न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़िता के बयान दर्ज किये गये हैं।

पुलिस महानिरीक्षक ने बताया कि आरोपी इंद्रराज गुर्जर को शिनाख्त परेड के लिये जेल भेजा गया है जबकि अन्य आरोपियों मुकेश गुर्जर, महेश गुर्जर, अशोक गुर्जर को अदालत में पेश किया गया जहां अदालत ने उन्हें 13 मई तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया। दो अन्य आरोपियों हंसराज और छोटेलाल को शुक्रवार को अदालत में पेश किया जायेगा। भाजपा सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड ने कहा कि हमने जिला कलेक्टर से लिखित में ज्ञापन देने का समय और स्वीकृति पूर्व में ली थी लेकिन वह सीट पर उपलब्ध नहीं थे। यह गंभीर मामला है। लोग जानना चाहते हैं कि राज्य में लोकसभा चुनाव के दौरान किसने इस मामले को दबाने के निर्देश दिेये।
 

केरल,तमिलनाडु,आंध्र प्रदेश और तेलंगाना 20 फीसदी वोट की लड़ाई लड़ रही BJP

वहीं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी के कहा कि यह विभत्स अपराध है और राज्य सरकार पर कलंक है। मामले में समय पर कार्रवाई क्यों नहीं की गई। लोकसभा चुनाव में नुकसान को देखते हुए सरकार ने इस मामले को दबाने की कोशिश की है। जिन कांग्रेसी नेताओं ने मामले को दबाने के निर्देश दिये हैं वह भी अपराधी है। 

गौरतलब है कि 26 अप्रैल को कुछ लोगों ने थानागाजी-अलवर रोड पर मोटर साइकिल पर जा रहे दंपति को रोका और पति की पिटाई की। उन्होंने पति के सामने महिला का दुष्कर्म किया। एक आरोपी ने उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। आरोपियों ने पीड़िता के पति से धन नहीं देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी। इस संबंध में दो मई को एफआईआर दर्ज की गई थी। पुलिस ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म के एक आरोपी मुकेश ने घटना का वीडियो बनाया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Alwar gang-rape case: BSP Chief Mayawati says Supreme Court should take action against the Congress government