DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अलविदा 2018: अटल बिहारी वाजपेयी से लेकर करुणानिधि तक, भारतीय राजनीति में एक स्वर्णिम युग का हुआ अंत

अटल बिहारी वाजपेयी

देश की राजनीति में इस साल कई दिग्गज नेताओं का देहांत हुआ। उनके दुनिया को अलविदा कहने के साथ ही एक स्वर्णिम युग का भी अंत हो गया। इन दिग्गज नेताओं में देश के तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके अटल बिहारी वाजपेयी का नाम भी शामिल है। इसके अलावा करुणानिधि, एनडी तिवारी आदि जैसे भी दिग्गज नेता थे, जिनका देहांत हुआ। यहां हम आपको ऐसे ही उन नेताओं के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके जाने से एक स्वर्णिम युग का अंत हो गया।

ये भी पढ़ें: अलविदा 2018: इन सियासी सूरमाओं ने जमकर बटोरीं सुर्खियां

अटल बिहारी वाजपेयी

पूर्व प्रधानमंत्री और 'भारत रत्न'  से सम्मानित अटल बिहारी वाजपेयी ने 16 अगस्त को दुनिया को अलविदा कह दिया। वह तीन बार पीएम पद पर काबिज रहे थे। उनका पहला कार्यकाल 13 दिनों, दूसरा 13 महीनों और तीसरा करीब पांच वर्षों का था। अटल पांच साल का कार्यकाल पूरा करने वाले पहले गैर-कांग्रेसी पीएम भी कहलाते हैं।

ये भी पढ़ें: अलविदा 2018: सुषमा से लेकर उमा भारती तक, अगले साल लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे ये दिग्गज नेता

एम करुणानिधि

7 अगस्त को डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि के निधन के साथ तमिल राजनीति में एक युग का अंत हो गया। दक्षिण भारतीय फिल्मों में पटकथा लेखक के रूप में पेशेवर जीवन का आगाज करने वाले करुणानिधि 1969 से 2011 के बीच पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे।

इन्होंने भी अलविदा कहा

एनडी तिवारी:  तीन बार यूपी और एक मर्तबा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद पर सेवाएं देने वाले एनडी तिवारी 18 अक्तूबर को अलविदा कह गए।

सोमनाथ चटर्जी: 2004 से 2009 के बीच लोकसभा अध्यक्ष रहे वामपंथी नेता सोमनाथ चटर्जी ने 13 अगस्त को कोलकाता में अंतिम सांस ली। 

मदनलाल खुराना: 1993 से 1996 के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री पद पर काबिज रह चुके खुराना 27 अक्तूबर को दुनिया से रुख्सत हो गए।

अनंत कुमार: केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का 12 नवंबर को निधन हो गया। उन्हें कर्नाटक में भाजपा का जनाधार बढ़ाने के लिए जाना जाता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:alvida 2018 leaders like atal bihari vajpayee karunanidhi dies in this year