ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशतालिबान के साथ-साथ भारत ने भी बनाया दबाव, अफगानिस्तान ने बताया क्यों बंद किया दूतावास

तालिबान के साथ-साथ भारत ने भी बनाया दबाव, अफगानिस्तान ने बताया क्यों बंद किया दूतावास

कम से कम दो महीने पहले नई दिल्ली में अफगानिस्तान दूतावास ने कहा था कि वह भारत सरकार से समर्थन की कमी के कारण और संसाधनों की कमी के कारण दूतावास का परिचालन बंद कर रहा है।

तालिबान के साथ-साथ भारत ने भी बनाया दबाव, अफगानिस्तान ने बताया क्यों बंद किया दूतावास
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Fri, 24 Nov 2023 12:45 PM
ऐप पर पढ़ें

अफगानिस्तान दूतावास ने शुक्रवार को कहा कि उसने भारत सरकार से लगातार मिल रही चुनौतियों के कारण नई दिल्ली में अपने दूतावास को स्थायी रूप से बंद करने की घोषणा की है। भारत में अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामुंडजे द्वारा जारी एक बयान में कहा गया, ''भारत में इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान के दूतावास को 23 नवंबर 2023 से स्थायी रूप से बंद करने की घोषणा करते हुए खेद है।''

कम से कम दो महीने पहले नई दिल्ली में अफगानिस्तान दूतावास ने कहा था कि वह भारत सरकार से समर्थन की कमी के कारण और संसाधनों की कमी के कारण दूतावास का परिचालन बंद कर रहा है।

अफगानिस्तान दूतावास ने अपने बयान कहा कि तालिबान और भारत सरकार दोनों की ओर से नियंत्रण छोड़ने के लगातार दबाव को देखते हुए उसे एक कठिन विकल्प का सामना करना पड़ा।

बयान के मुताबिक, अफगान गणराज्य के राजनयिकों ने मिशन को पूरी तरह से भारत सरकार को सौंप दिया है। अब यह भारत सरकार पर निर्भर करता है कि वह मिशन के भाग्य का फैसला करे। चाहे इसे बंद रखा जाए या तालिबान को सौंप दे। इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान द्वारा नियुक्त राजनयिकों की जिम्मेदारी आधिकारिक तौर पर समाप्त हो गई है। 

दूतावास के बयान में कहा गया, "काबुल के निर्देशों और फंडिंग पर काम करने वाले कुछ वाणिज्य दूतावास किसी वैध या निर्वाचित सरकार के उद्देश्यों के अनुरूप नहीं हैं।''

अफगान दूतावास ने कहा कि उसने इस निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए ऐतिहासिक घटनाओं और वर्तमान परिस्थितियों पर सावधानीपूर्वक विचार किया है। पिछले 22 वर्षों में अफगानिस्तान को उनके समर्थन और सहायता के लिए भारत के लोगों का आभार व्यक्त किया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें