All party meeting at the Parliament Library Building before winter session of Parliament live updates - winter session: लोकसभा और राज्यसभा में शिवसेना को दी जा रही है विपक्ष की सीट DA Image
9 दिसंबर, 2019|7:59|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

winter session: लोकसभा और राज्यसभा में शिवसेना को दी जा रही है विपक्ष की सीट

 winter session  next session of parliament will be from november 18 till december 13

1 / 3winter session: Next session of Parliament will be from November 18 till December 13

delhi  prime minister narendra modi arrives at the parliament library building

2 / 3Delhi: Prime Minister Narendra Modi arrives at the Parliament Library Building

all party meeting at the parliament library building

3 / 3All party meeting at the Parliament Library Building

PreviousNext

संसद के शीतकालीन सत्र से पहले केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी द्वारा बुलाई गई सभी पार्टियों की बैठक संसद भवन की लाइब्रेरी में हुई। इस बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, अर्जुन राम मेघवाल, केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी शामिल हुए। इस बैठक में बसपा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा, टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन और सुदीप बंद्योपाध्याय, लोजपा सांसद चिराग पासवान और कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी, केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी भी शामिल हुए। आपको बता दें कि ससंद का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है। 

All party meeting LIVE Updates

- प्रहलाद जोशी ने कहा कि शिवसेना का कोई भी सांसद एनडीए की बैठक में नहीं आया और मंत्री इस्तीफ दे चुका हैं। महाराष्ट्र में शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के साथ जा रही है। इस वजह से उन्हें लोकसभा और राज्यसभा में विपक्ष की सीट दी जा रही है। 

- केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने सर्वदलीय बैठक खत्म होने के बाद कहा कि उन्होंने विपक्ष से ठीक से सदन चलाने की मदद मांगी है। 26 नवंबर को संविधान दिवस का 70 साल पूरे हो रहे है। सुबह 11 बजे से एक बजे तक एक कार्यक्रम होने वाला है। इसमें राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पीएम मोदी मौजूद रहेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे संविधान की ब्रांडिंग करनी चाहिए। 

- प्रहलाद जोशी ने कहा, सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने पिछले सत्र को सफल बताया है। उन्होंने कहा कि सरकार के पास 27 बिल पेश करेगी। दो बिल राज्यसभा में पारित होकर लोकसभा में लंबित है और 10 बिल लोकसभा में पारित होने के बाद राज्यसभा में लंबित है। उसके अलावा दो अध्यादेश है। इसमें ई सिगरेट के बार में और दूसरा टेक्सेशन के बारे में है। 

- प्रहलाद जोशी ने कहा कि महाराष्ट्र के लिए अभी समय है और मैं उसपर कोई बयान नहीं दूंगा। 

- फारुख अब्बदुला को कस्टडी में रखने का मुद्दा पर सर्वदलीय बैठक में उठा है। प्रहलाद जोशी ने कहा कि यह न्यायिक मामला है और सरकार इसमें कुछ नहीं कहेगी। 

- केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी द्वारा बुलाई गई सभी पार्टियों की बैठक खत्म

- सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी भी हुए शामिल

- इस बैठक में बसपा सांसद सतीश चंद्र मिश्रा, टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन और सुदीप बंद्योपाध्याय, लोजपा सांसद चिराग पासवान और कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी, केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी भी शामिल हुए
 

 

- शिवसेना 18 नवम्बर से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र से पूर्व रविवार को दिल्ली में होने वाली राजग घटक दलों की बैठक में शामिल नहीं होगी। शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने यहां पत्रकारों से कहा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी का राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से औपचारिक रूप से बाहर आना अब एक औपचारिकता रह गया है और उन्हें पता चला है कि शिवसेना के सांसद अब विपक्षी सांसदों के साथ बैठेंगे।

- शिवसेना ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा की मंशा राज्य में ''खरीद-फरोख्त में लिप्त होने की है। राउत ने कहा, ''मुझे पता चला है कि (राजग घटक दलों की) बैठक 17 नवम्बर को हो रही है। महाराष्ट्र में जिस तरह के घटनाक्रम हो रहे हैं, उसे देखते हुए हमने पहले ही बैठक में भाग लेने के खिलाफ फैसला कर लिया था ... हमारे मंत्री ने केंद्र सरकार से इस्तीफा दे दिया।"

शरद पवार और सोनिया गांधी की बैठक टलने के आसार, जानें क्या है वजह

- इससे पूर्व दिन में शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में राज्य भाजपा प्रमुख चंद्रकांत पाटिल के बयान को लेकर भाजपा पर निशाना साधा गया। पाटिल ने शुक्रवार (15 नवंबर) को कहा था कि निर्दलीय विधायकों के समर्थन से उनकी पार्टी की संख्या 288 सदस्यीय सदन में 119 हो गई है और जल्द ही सरकार बनाई जायेगी। भाजपा के विधायकों की संख्या 105 है। मुखपत्र में कहा गया है, ''जिनके पास 105 सीटें थीं, उन्होंने पहले राज्यपाल से कहा था कि उनके पास बहुमत नहीं है। अब वे कैसे यह दावा कर रहे है कि केवल वे ही सरकार बनायेंगे।...खरीद-फरोख्त की उनकी मंशा अब उजागर हो गई है।"

भाजपा-शिवसेना गठबंधन टूटने से मुंबई मेयर के चुनाव पर पड़ सकता है असर 

- किसी भी पार्टी या गठबंधन के सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किये जाने के बाद 12 नवम्बर को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था। भाजपा के साथ अपना गठबंधन टूटने के बाद शिवसेना समर्थन के लिए कांग्रेस-राकांपा गठबंधन के पास पहुंची थी। शिवसेना ने 21 अक्टूबर को हुए विधानसभा चुनाव में 56 सीटें जीती थी। भाजपा ने 288 सदस्यीय सदन में सबसे अधिक 105 सीटों पर जीत दर्ज की थी। कांग्रेस और राकांपा ने क्रमश: 44 और 54 सीटों पर विजय हासिल की थी। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस के हवाले से कहा गया है कि भाजपा सरकार बनायेगी। भाजपा ने शनिवार (16 नवंबर) को यहां अपने पराजित उम्मीदवारों के साथ बैठक की। इसके बाद चंद्रकांत पाटिल ने पत्रकारों को बताया कि फड़णवीस ने विश्वास जताया है कि पार्टी सरकार बनायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:All party meeting at the Parliament Library Building before winter session of Parliament live updates