DA Image
21 नवंबर, 2020|2:52|IST

अगली स्टोरी

उद्धव ठाकरे मंत्रिमंडल में शामिल करने का फैसला करेंगे: अजित पवार

ajit pawar

एनसीपी नेता अजित पवार ने बुधवार (27 नवंबर) को कहा कि वह अपनी पार्टी में बने रहेंगे और उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल करने का फैसला मनोनीत मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लेंगे। महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए पिछले सप्ताह भाजपा को समर्थन देने वाले अजित पवार ने कहा कि उनके एनसीपी में बने रहने के बारे में भ्रम पैदा करने की कोई वजह नहीं है।

अजित पवार ने विधान भवन परिसर में कहा कि अभी मेरे पास कहने के लिए कुछ नहीं है, मैं सही समय आने पर बोलूंगा। मैंने पहले भी कहा था कि मैं एनसीपी में हूं और मैं एनसीपी में ही रहूंगा। भ्रम पैदा करने की कोई वजह नहीं है। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल में मुझे शामिल करने का फैसला मुख्यमंत्री के तौर पर उद्धव ठाकरे को लेना है। उन्होंने कहा कि मैं किसी से भी नाखुश नहीं हूं। मेरी पार्टी मुझे जो जिम्मेदारी देगी, मैं उसे स्वीकार करूंगा।

एनसीपी नेता अजित पवार ने बुधवार को पार्टी विधायकों की बैठक में हिस्सा लिया और उनका विभिन्न मुद्दों पर मार्गदर्शन किया। पार्टी विधायक धनजंय मुंडे ने यह जानकारी दी। अजीत पवार ने देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए भाजपा से हाथ मिलाते हुए शनिवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। हालांकि, सदन में बहुमत साबित किए जाने से पहले उन्होंने मंगलवार (26 नवंबर) को पद से इस्तीफा दे दिया था।

मुंडे ने बताया कि पार्टी नेताओं ने गुरुवार को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह, विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव, विश्वास मत, एनसीपी प्रमुख शरद पवार के 12 दिसंबर को 80वें जन्मदिन के मौके पर आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों पर चर्चा की। मुंडे ने पत्रकारों को बताया कि हमने विश्वास मत के बारे में चर्चा की। दादा (अजीत पवार) ने भी बैठक में हिस्सा लिया। उन्होंने सुनील तटकरे और महाराष्ट्र एनसीपी प्रमुख जयंत पाटिल साहिब के साथ ही हमारा मार्गदर्शन किया। वहीं महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद के लिए नामित उद्धव ठाकरे ने यहां बुधवार को एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात की।

पवार परिवार एकजुट है और हमेशा रहेगा : रोहित पवार

एनसीपी विधायक रोहित पवार ने बुधवार को कहा कि उन्हें भरोसा था कि उनके चाचा अजित पवार पार्टी में लौट आएंगे और उन्हें खुशी है कि अजित पवार ने पार्टी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की। उन्होंने यह भी कहा कि पवार परिवार एकजुट है और हमेशा रहेगा। शरद पवार के बड़े भाई अप्पासाहेब पवार के पोते रोहित ने कहा कि मैं भरोसा नहीं कर पाया कि यह कैसे हुआ। एक कार्यकर्ता के तौर पर मुझे इसकी विस्तृत जानकारी नहीं है। परिवार के सदस्य के तौर पर कुछ कशमकश थी, मैं समझ नहीं सका कि क्या हो रहा है। उनसे पूछा गया था कि भाजपा के साथ हाथ मिलाने के बाद अजित पवार के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर उन्हें कैसा लगा था। रोहित पवार ने कहा कि  लेकिन हमें उनकी वापसी का पूरा यकीन था। हम दादा को बहुत अच्छी तरह जानते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:ajit pawar says uddhav will decide to include in cabinet