DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिराज विमान से आतंकियों को पाक में घुसकर मारा: बीएस धनोआ

Air Chief Marshal Birender Singh Dhanoa (PT Filr Photo)

वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने सोमवार को कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक में हमने मिराज विमानों के जरिये पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादी ठिकानों को निशाना बनाया। जबकि पाकिस्तान हमारे हवाईक्षेत्र में दाखिल तक नहीं हो पाया। हमारे सैन्य अड्डों को भी निशाना बनाने में नाकाम रहा। धनोआ ने ग्वालियर वायुसैनिक अड्डे पर करगिल युद्ध की 20 वीं वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम में  मिराज 2000 विमानों की उपलब्धि का जिक्र करते हुए यह बात कही। वायुसेना ने पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक के दौरान पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी ठिकानों को नष्ट करने के लिए इसी विमान का इस्तेमाल किया था।

धनोआ ने कहा कि वायुसेना ने मिराज विमानों की मदद से ही 1999 में करगिल युद्ध का रुख पलट दिया। उन्होंने बताया कि 20 साल पूर्व मिराज विमानों में बदलाव की प्रक्रिया जारी थी। युद्ध के समय लाइटनिंग टारगेटिंग पॉड और लेजर गाइडेड बम प्रणाली का काम रिकॉर्ड 12 दिन में पूरा किया गया। इसके बाद नई तकनीक के साथ मिराज विमानों का इस्तेमाल करगिल युद्ध में किया गया। 

एएन-32 विमान का उड़ान भरना जारी रहेगा
धनोआ ने कहा, एएन-32 विमान पहाड़ी इलाकों में उड़ान भरना जारी रखेगा। इस विमान का हमारे पास कोई विकल्प नहीं है। हमलोग अधिक उन्नत विमान हासिल करने की प्रक्रिया में हैं।  इनके मिलते ही एएन-32 को हटाकर उन्नत विमानों को महत्वपूर्ण भूमिका में लगाया जायेगा। एएन-32 विमानों का इस्तेमाल परिवहन और प्रशिक्षण उद्देश्य से किया जायेगा। गौरतबल है कि अरुणाचल प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में स्थित घने जंगलों में इस महीने एक एएन-32 विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से उसमें सवार सभी 13 सैन्यकर्मियों की मौत हो गयी थी।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Air chief Dhanoa says Pak planes did not cross LoC during Feb 27 dogfight