ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशअग्निवीर की नौकरी 4 साल की बजाय 7 साल, 70% जवान होंगे रिटेन? इंटरनल सर्वे पर क्या बोली कांग्रेस

अग्निवीर की नौकरी 4 साल की बजाय 7 साल, 70% जवान होंगे रिटेन? इंटरनल सर्वे पर क्या बोली कांग्रेस

कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने सोमवार को कहा कि अग्निवीर की नौकरी 4 साल से बढ़ाकर 7 साल की जा सकती है। साथ ही, 25 प्रतिशत की जगह 60-70 फीसदी जवानों को रिटेन किया जा सकता है।

अग्निवीर की नौकरी 4 साल की बजाय 7 साल, 70% जवान होंगे रिटेन? इंटरनल सर्वे पर क्या बोली कांग्रेस
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 17 Jun 2024 05:29 PM
ऐप पर पढ़ें

अग्निवीर योजना को लेकर कांग्रेस की ओर से कुछ बड़े दावे किए गए हैं। पार्टी सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने सोमवार को कहा, 'पिछले 3-4 दिनों से कुछ बातें निकलकर सामने आई हैं। पता चला है कि सेना का आंतरिक सर्वे हुआ है जिसमें अग्निवीर योजना में खामियां पाई गईं। सर्वे में कहा गया कि योजना की खामियों को दूर करने के लिए कदम उठाए जाएंगे।' दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि अग्निवीर की नौकरी 4 साल से बढ़ाकर 7 साल की जा सकती है। साथ ही, 25 प्रतिशत की जगह 60-70 फीसदी जवानों को रिटेन किया जा सकता है। मगर, कांग्रेस साफ करना चाहती है कि यह योजना न तो देश के हित में, न सेना के हित में और न ही युवाओं के हित में है।

कांग्रेस नेता ने कहा, 'हमारी मांग है कि अग्निवीर योजना को बंद किया जाए और सेना की स्थाई भर्ती फिर से शुरू की जाए।' दीपेंद्र सिंह हुड्डा का यह बयान ऐसे समय आया है जब एनडीए सहयोगी जनता दल यूनाइटेड की ओर से अग्निवीर के समीक्षा की मांग उठाई गई है। जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि पार्टी ने अग्निपथ योजना की समीक्षा की मांग की है और जाति आधारित जनगणना के मुद्दे को आगे बढ़ाएगी। मालूम हो कि सरकार जून 2022 में सशस्त्र बलों में भर्ती के लिए अग्निपथ योजना लेकर आई थी। इस योजना में साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष तक के आयु वर्ग के युवाओं को 4 साल के लिए भर्ती का प्रावधान है। इसके अलावा इनमें से 25 प्रतिशत को अगले 15 वर्षों तक सेवा में बनाए रखने का प्रावधान है।

AAP और सपा नेता भी उठाते रहे आवाज 
आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा था कि अग्निपथ योजना की समीक्षा की मांग 100 प्रतिशत सही है। इस योजना को पहले ही वापस ले लिया जाना चाहिए था। सिंह ने कहा, 'अग्निवीर भारत माता और सेना के साथ विश्वासघात है। प्रधानमंत्री को इसे पहले ही वापस ले लेना चाहिए था। पहले जवान को एक साल का प्रशिक्षण दिया जाता था, लेकिन इस योजना के तहत आपने प्रशिक्षण की अवधि को घटाकर 6 महीने कर दिया। हर नौजवान देश के लिए अपनी जान कुर्बान करने को तैयार है, लेकिन आप सेना को कमजोर कर रहे हैं।' समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव भी कह चुके हैं कि अग्निवीर योजना तुरंत खत्म होनी चाहिए। सेना में भर्ती होने की उम्र पार कर चुके इच्छुक युवाओं को फिर मौका मिलना चाहिए। 
(एजेंसी इनपुट के साथ)

Advertisement