DA Image
4 अगस्त, 2020|6:37|IST

अगली स्टोरी

सरकार को अस्थिर करने के पायलट के इनकार के बाद बोले गहलोत- मेरे पास सबूत

gehlot  also in a broad swipe at sachin pilot  claimed that the    new generation    in politics didn   t

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को दावा किया कि उनकी टीम के पास इस बात के सबूत हैं कि राज्य सरकार के खिलाफ विद्रोह के लिए कांग्रेस विधायकों को लालच दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार को गिराने का यह प्रयास पिछले कुछ समय से चल रहा है, जिसकी वजह से कई मौकों पर उन्हें सभी विधायकों को जयपुर के होटल में बुलाने को मजबूर होना पड़ा।

एक समाचार एजेंसी ने गहलोत का हवाला दिया, जिसमें उन्होंने कहा- “जयपुर में विधायकों की खरीद-फरोख्त चल रही थी, हमारे पास सबूत है। हमें 10 दिनों तक विधायकों को होटल में रखना पड़ा, अगर हम ऐसा नहीं करते तो जो मानेसर में हो रहा है वह उस वक्त होता।”

गहलोत का बयान उनके पूर्व डिप्टी की तरफ से इस बात को खारिज किए जाने के बाद आया है कि वे बीजेपी के इशारे पर कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का प्रयास नहीं कर रहे थे। अपने कई वफादार विधायकों के साथ मानेसर के होटल में ठहरे सचिन पायलट ने इस बात का भी ऐलान किया है कि वे बीजेपी से नहीं जुड़ रहे हैं।

ये भी पढ़ें: राजस्थान कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा का सियासी सफर

उनका बयान गहलोत के उस दावे को काउंटर करता है जिसमें उन्होंने कहा था कि सचिन पायलट बीजेपी की जाल में फंसकर राजस्थान सरकार के खिलाफ साजिश करने में लगे थे। उन्होंने सचिन पायलट का नाम लिए बगैर कहा कि अच्छी अंग्रेजी बोलना, अच्छी बाइट देना और हैंडसम होना सब कुछ नहीं है। देश, आपकी विचारधारा, नीतियों और प्रतिबद्धता के लिए आपके दिल के अंदर क्या है, सब कुछ माना जाता है। कांग्रेस ने युवाओं को तरजीह दी है। युवाओं को संगठन में तथा सरकार में पद दिए गए हैं। उनका भविष्य भी कांग्रेस में ही सुरक्षित है। गहलोत ने कहा कि कांग्रेसी बोलने से कुछ नहीं होता है, देश के लिए कुछ करने का जज्बा होना चहिए। उन्होंने कहा, 'सोने की छुरी पेट में उतारने के लिए नहीं होती है।'

 

गहलोत ने कहा कि हम तो तीसरी बार मुख्यमंत्री बन गए 40 साल राजनीति करते हो गए। ये जो नई पीढ़ी आई है, हम उन्हें प्यार करते हैं। आने वाला कल उनका है। 40 साल पहले की जो लीडरशिप थी उसकी खूब रगड़ाई हुई थी फिर भी आज जिंदा है। अगर इनकी और रगड़ाई हुई होती तो और अच्छे से काम करते। 

गहलोत ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि दिल्ली में बैठे भाजपा के लोग विधायकों को लालच देकर सरकार गिराने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का खुलकर मजाक उड़ाया जा रहा है। दलाल लोग  विधायकों को ललचा रहे हैं। यह लोकतंत्र को खत्म करने की कोशिश है।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस ने पायलट से कहा, भाजपा सरकार की मेजबानी छोड़ घर जयपुर लौटें

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:After the Sachin pilot refusal to destabilize the government Ashok Gehlot said I have evidence