ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशबस पासपोर्ट की जरूरत, श्रीलंका-थाइलैंड के बाद अब इस देश में भी भारतीयों को वीजा फ्री एंट्री

बस पासपोर्ट की जरूरत, श्रीलंका-थाइलैंड के बाद अब इस देश में भी भारतीयों को वीजा फ्री एंट्री

मलेशिया ने भारतीयों और चीनी नागरिकों के लिए 30 दिन की वीजा फ्री एंट्री का ऐलान किया है। यह पॉलिसी 1 दिसंबर से लागू होने वाली है। श्रीलंका और थाइलैंड पहले ही इसका ऐलान कर चुके हैं।

बस पासपोर्ट की जरूरत, श्रीलंका-थाइलैंड के बाद अब इस देश में भी भारतीयों को वीजा फ्री एंट्री
Ankit Ojhaलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीMon, 27 Nov 2023 07:59 AM
ऐप पर पढ़ें

मलेशिया की तरफ से रविवार को ऐलान किया गया है कि अब भारत के लोगों को 30 दिन दिन का वीजा फ्री ट्रैवल दिया जाएगा। यानी 30 दिन तक किसी भारतीय को मलेशिया की यात्रा करने के लिए वीजा की जरूरत ही नहीं होगी। प्रधानमंत्री अनवर इब्राहिम ने कहा कि चीन के नागरिकों की तरह ही भारत के लोगों पर भी नियम लागू होंगे। बता दें कि श्रीलंका और थाइलैंड के बाद मलेशिया तीसरा एशियाई देश है जिसने भारत के नागरिकों को वीजा फ्री ट्रैवल की सुविधा दी है। इससे पहले ही मलेशिया ने सऊदी अरब, बहरैन, कुवैत, यूएई, ईरान, तुर्की और  जॉर्डन को यह सुविधा दे रखी थी। गौर करने वाली बात यह है कि ये सारे ही मुस्लिम देश हैं। 

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि भारतीय और चीनी नागरिकों को वीजा की छूट सिक्योरिटी क्लेयरेंस के बाद ही मिलेगी। जिन लोगों का क्रिमिनल रिकॉर्ड होगा या फिर हिंसा का डर होगा, उन्हें वीजा फ्री एंट्री नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री सैफुद्दीन इस्माइल वीजा फ्री एंट्री और छूट को लेकर डीटेल जारी करेंगे। बता दें कि चीन ने भी मलेशिया के लिए वीजा फ्री पॉलिसी का ऐलान किया है। हालांकि यह 1 दिसंबर 2023 से 30 नवंबर 2024 तक ही लागू रहेगी। इसपर चीन की सरकार को धन्यवाद देते हुए अनवर ने कहा कि दोनों देश अगले साल आपसी संबंधों की 50वीं बरसी मनाएंगे।

भारत के साथ संबंधों को लेकर भी मलेशिया की तरफ से बड़ी बात कही गई है। मलेशियाई प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत का सहयोग हर मोर्चे पर जरूरी है। ASEAN- इंडिया मीडिया एक्सचेंज प्रोग्राम के दौरान मलेशिया में भारत के उच्चायुक्त बीएन रेड्डी ने कहा कि मलेशिया के साथ संबंध बहुत मजबूत रहे हैं। दोनों देशों को सकारात्मक दिशा में आर आगे बढ़ने की जरूरत है। दोनों देशों के राजनैतिक संबंधों को 65 साल पूरे हो गए हैं। 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मलेशिया दौरे के बाद दोनों देशों को संबंध और ज्यादा मजबूत हुए हैं। 

बता दें कि 2022 में मलेशिया भारत का 11वां सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर था। 2021 की तुलना में 2022 में दोनों देशों के व्यापार में 23 फीसदी का इजाफा हुआ था। बतादें कि भारत और चीन के नागरिकों को मलेशिया में 1 दिसंबर से फ्री एंट्री मिलेगी। मलेशइया इकोनॉमिक ग्रोथ को सपोर्ट करने और पर्यटन को बढ़ाने के लिए यह कदम उठा रहा है। बताया जा रहा है कि वियतनाम भी भारत के लोगों के लिए वीजा फ्री एंट्री का ऐलान कर सकता है। फिलहाल उसने जर्मनी, फ्रांस, इटली, स्पेन, डेनमार्क, स्वीडन और फिनलैंड के लिए इसका ऐलान किया है। 

इन देशों में भारतीयों के लिए वीजा फ्री एंट्री
जिन देशों मेंभारतीयों को वीजा फ्री एंट्री की सुविधा मिली है उनमें मलेशिया, थाइलैंड, श्रीलंका, कुक आईलैंड, हैती, जमैका, मोंटेसेराट, किट्स ऐंड नेविस, फइजी, माइक्रोनेशिया, नियू, भूटान, वनुआटू, ओमान, कतर, त्रिनिदाद, कजाखस्तान, मकाओ, नेपाल, बारबाडोस, ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड, डोमिनिका, ग्रेनेडा, मॉरिशस, अल साल्वाडोर, ट्यूनीशिया और सेनेगल शामिल हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें