DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Exit Poll के बाद ममता से मिलने कोलकाता पहुंचे चंद्रबाबू नायडू, जानिए क्या है गठबंधन सरकार बनाने के लिए प्लान

mamata banerjee in a conversation with chandrababu naidu  the tdp boss  ani file photo

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करने के एक दिन बाद आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू यहां सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात करने कोलकाता पहुंचे। तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) अध्यक्ष 23 मई को लोकसभा परिणाम से पहले भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों को एकजुट करने के अपने प्रयासों के तहत ममता से मुलाकात करेंगे।

एक उच्च पदस्थ सूत्र ने बताया, ''नायडू आज (सोमवार) दोपहर बाद पश्चिम बंगाल सचिवालय में ममता बनर्जी के साथ बैठक करेंगे। दोनों 'महागठबंधन की रणनीतियों पर वार्ता करेंगे।" सूत्र ने बताया कि ऐसी संभावना है कि वह ममता के साथ वार्ता के दौरान सप्ताहांत में नयी दिल्ली में अन्य दलों के नेताओं के साथ हुई अपनी बैठकों के बारे में जानकारी देंगे। अधिकतर एक्जिट पोल ने अनुमान जताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक और कार्यकाल के लिए देश की कमान संभालेंगे। कुछ एक्जिट पोल के अनुमान के अनुसार भाजपा नीत राजग 300 से अधिक सीट जीतेगा।

विपक्षी नेताओं ने अगली सरकार बनाने के लिए गठबंधन करने की कोशिशें तेज कर दी हैं। इस कड़ी में तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू अहम भूमिका निभा रहे हैं। नायडू लगातार कांग्रेस, भाकपा, राकांपा और अन्य नेताओं से संपर्क में हैं।  इसी सिलसिले में उन्होंने अंतिम चरण के चुनाव से एक दिन पहले विपक्षी पार्टियों के नेताओं से दिल्ली में बैठक भी की थी। नायडू ने 18 मई को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की और उनके साथ सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने और एक संयुक्त विपक्षी गठबंधन बनाने की संभावनाओं पर चर्चा की। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सुबह के नाश्ते पर भाकपा नेता सुधाकर रेड्डी और डी राजा से भी मुलाकात की तथा उनसे ''एक साथ आने" के लिए कहा। नायडू ने राकांपा प्रमुख शरद पवार और एलजेडी नेता शरद यादव से भी मुलाकात की।

तेदेपा प्रमुख, तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी, आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल और माकपा महासचिव सीताराम येचुरी समेत विभिन्न विपक्षी नेताओं से कई दौर की चर्चा कर चुके हैं। शनिवार (18 मई) शाम को लखनऊ में बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी नायडू ने मुलाकात की। एक सूत्र ने बताया कि नायडू ने सभी नेताओं से कहा कि भाजपा को बाहर रखकर अगली सरकार बनाने के लिए हमें एक साथ आना चाहिए और मिलकर काम चाहिए।  

क्या है चंद्रबाबू नायडू की योजना
चंद्रबाबू नायडू का यह प्रस्ताव है कि मतगणना से पहले ही विपक्षी दल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलकर उन्हें इस बात का ज्ञापन सौंपना चाहिए कि वे गठबंधन सरकार बनाने के लिए तैयार हैं। हालांकि, विपक्षी खेमे में कुछ दल इससे अभी तक सहमत नहीं हैं। वाम दल भी इस योजना से इत्तेफाक नहीं रखते क्योंकि उनका मानना है कि विपक्ष को सीमा नहीं लांघनी चाहिए। लेफ्ट के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, "हमने दूसरे दलों को सुझाव दिया है कि हमें जनता के सामने अपनी एकता बनाए रखते हुए सार्वजनिक तौर पर अपनी प्रतिबद्धता व योजना को जाहिर करना चाहिए। दरअसल, हम वास्तविक नतीजे घोषित होने के बाद ही राष्ट्रपति से मिल सकते हैं।"

लोकसभा की 543 में से 542 सीटों के लिए मतदान 19 मई को पूरा हो गया। चुनाव आयोग ने नकदी के दुरुपयोग के मामले में तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर मतदान रद्द कर दिया था। लोकसभा चुनाव के लिए सात चरणों में मतदान 11 अप्रैल से 19 मई तक चला। वोटों की गिनती और साथ ही परिणामों की घोषणा 23 मई को होनी है। बहुमत के लिए किसी भी पार्टी या गठबंधन को कम से कम 272 सीटें चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After Lok Sabha Elections exit polls chandrababu naidu meet mamata banerjee Know His Plan To Form Govt