DA Image
8 मई, 2021|6:37|IST

अगली स्टोरी

फैसले के बाद अयोध्या बेंच के जजों को डिनर पर ले गए CJI रंजन गोगोई

chief justice ranjan gogoi led bench will hear four important cases next week

अयोध्या पर फैसला सुनाने के बाद चीफ जस्टिस रंजन गोगोई पीठ के अन्य जजों को शनिवार रात डिनर के लिए लेकर गए। पांच जजों की पीठ में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के अलावा न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति एस ए नजीर, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़़ शामिल थे।

अयोध्या में विवादित राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद पर शनिवार को सुबह निर्णय देने के तुरंत बाद ही सीजेआई गोगोई ने फैसला सुनाने वाले सभी जजों के लिए (जिसमें वे खुद भी शामिल हैं) डिनर की घोषणा की और वे खुद ही उन्हें ताज मानसिंह होटल ले गए।

गुरु नानक देव की अयोध्या यात्रा बनी पुख्ता सुबूत

उच्चतम न्यायालय ने शनिवार को ऐतिहासिक फैसले में एक सदी से अधिक पुराने मामले का पटाक्षेप करते हुए अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर दिया और साथ में व्यवस्था दी कि पवित्र नगरी में मस्जिद के लिए पांच एकड़ वैकल्पिक जमीन दी जाए।

अयोध्या में मंदिर गिराकर मस्जिद बनाने के सबूत नहीं, पढ़े सुप्रीम कोर्ट ने किन तथ्यों को माना और किसे नकारा

न्यायालय ने अपने आदेश में कहा कि विवादित 2.77 एकड़ जमीन अब केंद्र सरकार के रिसीवर के पास रहेगी, जो इसे सरकार द्वारा बनाए जाने वाले ट्रस्ट को सौंपेंगे। पीठ ने केंद्र सरकार से कहा कि मंदिर निर्माण के लिए तीन महीने के भीतर एक ट्रस्ट बनाया जाना चाहिए।

अयोध्या पर SC के फैसले में बार-बार हुआ ASI की रिपोर्ट का जिक्र

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने सर्वसम्मत फैसला दिया और कहा कि हिन्दुओं का यह विश्वास निर्विवाद है कि संबंधित स्थल पर ही भगवान राम का जन्म हुआ था तथा वह प्रतीकात्मक रूप से भूमि के मालिक हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:After Ayodhya Verdict CJI Ranjan Gogoi takes Bench for dinner in Taj Mansingh hotel