DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Doctors Strike: ममता सरकार का फैसला: अस्पताल में भर्ती डॉक्टरों के इलाज का खर्च उठाएगी सरकार

mamata banerjee

1 / 4Mamata Banerjee

medical students and junior doctors at rims present a street play during their demonstration in prot

2 / 4Medical students and junior doctors at RIMS present a street play during their demonstration in protest of assault on doctors in West Bengal in Ranchi, India, on Friday, June 14, 2019.(Diwakar Prasad/ Hindustan Times)

members of the aiims resident doctors association  rda  said that if the demands of the west bengal

3 / 4Members of the AIIMS Resident Doctors Association (RDA) said that if the demands of the West Bengal doctors are not met within 48 hours, they would be forced to resort to an indefinite strike.(Anshuman Poyrekar/HT Photo)

doctors strike continues against assault on junior doctors in west bengal on monday night

4 / 4Doctors strike continues against assault on junior doctors in West Bengal on Monday night

PreviousNext

Doctors Strike: पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कोलकाता स्थित नील रतन सरकार अस्पताल (एनआरएस) में सोमवार रात डॉक्टरों से हुई मारपीट के खिलाफ शुरू हुआ विरोध प्रदर्शन पूरे देश में फैल गया है। पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल आज भी जारी है। डॉक्टरों से मारपीट के बाद शुरू हुई हड़ताल का असर बंगाल से लेकर दिल्ली तक देखने को मिल रहा है।

कोलकाता में डॉक्टरों की पिटाई के विरोध में शुक्रवार को काम का बहिष्कार करनेवाले एम्स और सफदरजंग के डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार को 48 घंटा का अल्टीमेटम देते हुए कहा है कि आंदोलन कर रहे डॉक्टरों की मांग पूरी करें, अन्यथा वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

देश के 19 से ज्यादा राज्यों के डॉक्टरों ने हड़ताल का खुलकर समर्थन किया है। वहीं, दिल्ली में आज भी AIIMS समेत 18 से ज्यादा बड़े अस्पतालों के लगभग 10 हजार डॉक्टरों ने हड़ताल का एलान किया है। वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने सोमवार को डॉक्टरों से राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है।

ये भी पढ़ें: बंगाल में डॉक्टरों की पिटाई के खिलाफ दिल्ली के 15 अस्पतालों में हड़ताल

अब तक के अहम घटनाक्रम:

- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि हमने उनकी सभी मांगें मान ली हैं। मैंने कल अपने मंत्रियों, प्रधान सेक्रेटरी को डॉक्टरों से मिलने के लिए भेजा था और आज डॉक्टरों के प्रतिनिधिमंडल से मिलने के लिए 5 घंटे तक इंतजार किया, लेकिन वे नहीं आए। आपको संवैधानिक संस्था को सम्मान देना होगा।

-ममता बनर्जी ने कहा कि मैं डॉक्टरों से अपील करती हूं कि वे काम पर वापस लौट आएं, क्योंकि हजारों लोग अपने इलाज का इंतजार कर रहे हैं। 

-10 जून की घटना दुर्भाग्यपूर्ण थी- ममता बनर्जी

कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य सरकार जल्द से जल्द सामान्य चिकित्सा सेवाएं फिर से शुरू करने के लिए प्रतिबद्ध है। 10 जून की घटना दुर्भाग्यपूर्ण थी। हमने लगातार एक समाधान तक पहुंचने की कोशिश की।

-ममता सरकार का फैसला: अस्पताल में भर्ती डॉक्टरों के इलाज का खर्च उठाएगी सरकार

पश्चिम बंगाल सरकार ने कहा कि राज्य आवश्यक कदम उठाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। राज्य ने निजी अस्पताल में भर्ती जूनियर डॉक्टर के चिकित्सा उपचार के सभी खर्चों को वहन करने का निर्णय लिया है।

-डॉक्टरों की हड़ताल पर केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने सभी राज्यों को लिखा पत्र

बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल पर केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखते हुए उन लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा है जो डॉक्टरों पर हिंसा के मामले में संलिप्त है।

बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल पर गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

बंगाल में डॉक्टरों की जारी हड़ताल पर गृह मंत्रालय ने ममता सरकार को एक और एडवाइजरी जारी करते हुए पूरे मामले पर तत्काल रिपोर्ट की मांग की है। समाचार एजेंसी एएनआई ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया कि गृह मंत्रालय ने पिछले चार वर्ष 2016 से लेकर 2019 के दौरान राज्य में बढ़ती चुनाव और राजनीतिक हिंसा की ओर इशारा किया है। इसमें कहा गया कि लगातार बढ़ती हिंसा काफी चिंता का विषय है।

इसके साथ ही, केन्द्र सरकार ने राजनीतिक हिंसा को रोकने और उसकी जांच कर हिंसा के कसूरवारों को सजा दिलाने के लिए पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से उठाए जा रहे कदम पर रिपोर्ट मांगी है।

 डॉक्टरों ने ठुकराया ममता का दूसरा प्रस्ताव

कोलकाता के एक अस्पताल में डॉक्टरों से मारपीट की घटना के खिलाफ हड़ताल कर रहे जूनियर डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का ऑफर फिर से ठुकरा दिया। जूनियर डॉक्टरों ने बैठक का ऑफर ठुकराते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पहले माफी मांगनी होगी। ममता बनर्जी ने शनिवार को राज्य सचिवालय में जूनियर डॉक्टरों को बैठक का ऑफर दिया था।

एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर हेलमेट पहनकर कर रहे हैं सांकेतिक विरोध

कोलकाता में डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट की घटना के विरोध में नई दिल्ली स्थित ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) के रेजिडेंट डॉक्टरों ने हेलमेट पनकर अपना सांकेतिक विरोध प्रदर्शन जारी रखा।

आरएमएल सुपरिटेंडेंट ने कहा- आपातकालीन सेवाएं सामान्य

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट वीके तिवारी ने कहा- “रेजिडेंट डॉक्टर्स आज हड़ताल पर हैं। उन्होंने सिर्फ अपना काम ओपीडी और वार्ड में रोका है हालांकि आपातकालीन सेवाएं सामान्य है। हम पश्चिम बंगाल में डॉक्टर के खिलाफ हुए हिंसा की निंदा करते हैं।”

आईएमए के प्रतिनिधमंडल ने हर्षवर्धन से की मुलाकात

पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की जारी हड़ताल को लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के प्रतिनिधिमंडल ने केन्द्रीय स्वास्थ्यमंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से मुलाकात की।

एम्स के रेजिडेंट डॉक्टरों का ममता सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम

उधर, एम्स के रेजिडेंट डॉक्टरों एसोसिएशन ने ममता सरकार को दिया 48 घंटा का अल्टीमेटम दिया है। उन्होंने कहा कि कहा मांगें पूरी नहीं होने पर एम्स में करेंगे अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी।

300 डॉक्टरों ने सेवा से दिया इस्तीफा

पश्चिम बंगाल में एनआरएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में हिंसा के खिलाफ जारी डॉक्टरों के आंदोलन के बीच राज्य के विभिन्न सरकारी अस्पतालों के करीब 300 डॉक्टर्स ने सेवा से इस्तीफा दे दिया है। कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल के 175 डॉक्टरों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दिया है।

17 जून को डॉक्टरों की देशव्यापी हड़ताल

इंडियन मेडिकल ऐसोसिएशन ने पश्चिम बंगाल में आंदोलनरत डॉक्टरों के प्रति एकजुटता जताते हुये शुक्रवार से तीन दिन के राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन के साथ सोमवार 17 जून को हड़ताल का आह्वान किया है। आईएमए ने चिकित्सा सेवा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा पर नियंत्रण के लिए एक केंद्रीय कानून बनाने की मांग से आगे जाते हुए कहा कि इस कानून का उल्लंघन करने वालों को सात साल की सजा का प्रावधान होना चाहिए।

कई राज्यों के डॉक्टर समर्थन में उतरे

बंगाल के डॉक्टरों के समर्थन में देश के कई राज्यों के डॉक्टरों ने शुक्रवार को विरोध प्रदर्शन किया। डॉक्टरों के संगठनों ने आईएमए के आह्वान पर काला बिल्ला लगाकर काम किया और कहीं-कहीं प्रदर्शन भी किया। झारखंड में जमशेदपुर और धनबाद में डॉक्टरों ने विरोध प्रदर्शन किया। जमशेदपुर में सरकारी चिकित्सकों ने भी कोलकाता के जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल का समर्थन किया।

ये भी पढ़ें: एम्स के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसो. का ममता सरकार को 48 घंटे का अल्टीमेटम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:After assault on junior doctors in west Bengal doctors strike continues live updates here