after arrest of swami chinmayanand Victim law Student says not happy with SIT investigation - स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी के बाद बोली पीड़ित छात्रा, एसआईटी जांच से संतुष्ट नहीं DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी के बाद बोली पीड़ित छात्रा, एसआईटी जांच से संतुष्ट नहीं

victim law student and swami chinmayanand  file pic

स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार का सनसनीखेज आरोप लगाने वाली लॉ की छात्रा ने सीनियर बीजेपी नेता की शुक्रवार की हुई गिरफ्तारी के बाद अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि वे विशेष जांच दल (एसआईटी) की जांच से संतुष्ट नहीं हैं।

पीड़ित छात्रा ने कहा- “मैं एसआईटी जांच से संतुष्ट नहीं हूं। चिन्मयानंद पर जो धाराएं लगाई गई हैं, वह केवल औपचारिकता है। चिन्मयानंद को गिरफ्तार कर मर्सडीज कार में बैठाकर जेल ले जाया गया। उन्हें भी साधारण अपराधी की तरह से ले जाते। आम आदमी की तरह ही उससे व्यवहार किया जाता। मुझे रंगदारी मामले में आरोपी बनाकर मेरे मुकदमे को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है। आज चिन्मयानंद को जेल भेजा गया है, वह मीडिया की वजह से ही संभव हो सका है। उत्तर प्रदेश सरकार के कारण ही आज इतनी कार्रवाई हो सकी है।”

ये भी पढ़ें: स्वामी चिन्मयानंद ने अपने ऊपर लगे ज्यादातर आरोपों को स्वीकारा, कहा- अपने किए पर हूं शर्मिंदा

गौरतलब है कि चिन्मयानंद को कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। उधर, चिन्मयानंद ने कहा कि उनके ऊपर जो मालिश और यौन वार्तालाप समेत अधिकतर आरोप लगाए गए हैं वे सही हैं।

मी पर उनके ही कॉलेज में पढ़ने वाली कानून की एक छात्रा ने दुष्कर्म और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया था। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की दो सदस्यीय विशेष पीठ गठित करवा कर पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित करने का निदेर्श दिया था। स्वामी को गिरफ्तार करने वाली एसआईटी टीम का नेतृत्व यूपी पुलिस के महानिरीक्षक नवीन अरोड़ा कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें: जानिए, स्वामी चिन्मयानंद पर दर्ज हैं कौन-कौन सी धाराएं, कितने साल की हो सकती है सजा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:after arrest of swami chinmayanand Victim law Student says not happy with SIT investigation