ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशसंजीव बालियान के बुर्का पहनकर वोट डालने आ रही महिलाओं की जांच नहीं होने के आरोपों पर EC ने दिया ये जवाब

संजीव बालियान के बुर्का पहनकर वोट डालने आ रही महिलाओं की जांच नहीं होने के आरोपों पर EC ने दिया ये जवाब

Sanjeev Balyan alleges on fake voting: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से बीजेपी सांसद संजीव बालियान के बुर्का पहनकर वोट डालने आ रही महिला मतदाताओं की जांच नहीं होने के आरोपों पर चुनाव आयोग ने सफाई दी है।...

संजीव बालियान के बुर्का पहनकर वोट डालने आ रही महिलाओं की जांच नहीं होने के आरोपों पर EC ने दिया ये जवाब
नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीमThu, 11 Apr 2019 02:20 PM
ऐप पर पढ़ें

Sanjeev Balyan alleges on fake voting: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से बीजेपी सांसद संजीव बालियान के बुर्का पहनकर वोट डालने आ रही महिला मतदाताओं की जांच नहीं होने के आरोपों पर चुनाव आयोग ने सफाई दी है। आयोग के अधिकारियों ने कहा कि इस तरह की कोई घटना हमारे संज्ञान में नहीं आई है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिन आठ सीटों के लिए पहले चरण के तहत गुरुवार को मतदान हो रहा है उनमें मुजफ्फरनगर भी शामिल है। बालियान इसी सीट से बीजेपी प्रत्याशी हैं।

एडिशनल चीफ इलेक्शन ऑफिसर बीआर तिवारी ने संजीव बालियान के आरोप पर कहा कि यदि कोई महिला घूंघट में है, तो वहां मौजूद महिला अधिकारी उनकी पहचान की जांच करती हैं और उसके बाद ही उन्हें मतदान करने देती हैं। इस तरह की कोई घटना हमारे संज्ञान में नहीं आई है।

बिहार: पीएम मोदी बोले, दुनिया में कोई PAK को घास डालने वाला नहीं बचा

बालियान ने आरोप लगाया था कि एक बूथ पर गया तो मैंने देखा कि बहुत अच्छी तरह से चेहरे चेक नहीं किये जा रहे हैं। अगर बुर्के में कोई आता है तो चार बार आये, पांच बार आये, आप चेहरा कैसे चेक करेंगे। उन्होंने कहा, ''चेहरा चेक किये बिना आप वोट कैसे डलवा सकते हैं ... बुर्के में जो महिलाएं हैं, चेहरा नहीं देखा जा रहा है कहीं भी। चेहरा देखना चाहिए। फर्जी वोटिंग चल रही थी ... महिलाएं सीधे वोट डाल रही थीं।''

उन्होंने एक गांव की चर्चा करते हुए कहा कि वहां 25 से 26 बूथ हैं लेकिन महिला कांस्टेबल बिल्कुल नहीं थीं। गांव में एक भी महिला कांस्टेबल की ड्यूटी नहीं थी। अगर वहां नहीं लगाएंगे तो महिला कांस्टेबल किस काम के लिए हैं। बालियान ने कहा, ''महिलाओं लंबी लाइन है लेकिन अंदर कुछ पोलिंग पार्टी में महिलाएं नहीं थीं ... तो पुरूष चेक करेंगे। इस देश में ऐसा नहीं हो सकता कि चेहरे देखे बिना आप वोट डालने दें।''

लोकसभा चुनाव: पहले चरण में दांव पर है पीएम मोदी के इन मंत्रियों की साख

उन्होंने कहा कि पुरूष पीठासीन अधिकारी कहते हैं कि हमारे पास महिला कर्मचारी नहीं हैं तो हम चेहरा कैसे देखें। ''अरे भई, ये हिन्दुस्तान है, लोकतांत्रिक देश है। चेहरा देखे बिना वोट नहीं दे सकते। धार्मिक आधार पर अगर किसी को चेहरा दिखाने पर आपत्ति है तो मत वोट दीजिए।'' बीजेपी सांसद ने कहा कि चेहरा देखकर वोट डलवाने चाहिए। एक महिला अंदर जाती है और बिना हस्ताक्षर के वोट डालती है। बाद में अधिकारी कहता है कि बहन जी हस्ताक्षर कर दीजिए। हस्ताक्षर के बिना वोट किया जा रहा है।

कांग्रेस ने हालांकि बालियान की आलोचना करते हुए कहा है कि उन्हें अपने दिमाग का इलाज कराना चाहिए। उधर, उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटश्वर लू ने बताया कि पहले ही ऐसी व्यवस्था है कि जिलाधिकारियों ने महिला वोटरों की पहचान की पुष्टि के लिए महिला अधिकारियों को तैनात कर रखा है। जहां कहीं भी बुर्के में महिला मतदाता आती हैं, वहां तैनात महिला निर्वाचन अधिकारी उनकी पहचान की पुष्टि करती हैं।

DM के समझाने पर भी 1 बजे तक किसी भी वोटर ने यहां नहीं डाला वोट