DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधायकों का इस्तीफा एक बार में स्वीकार करें, बिहार विस के अध्यक्ष ने कर्नाटक के समकक्ष से की अपील

कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष के पास कोई विकल्प नहीं बचता जब सदस्यों ने व्यक्तिगत तौर पर उनसे मुलाकात की और अपने इस्तीफे सौंपे। 

kr ramesh kumar  ani

बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कर्नाटक में विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लेने में कर्नाटक के अपने समकक्ष के.आर रमेश कुमार की ओर से हो रहे “विलंब” पर शुक्रवार को असहमति जाहिर की। 

विधानसभा सचिवालय की ओर से यहां जारी विज्ञप्ति में चौधरी ने कहा कि यह मामला बेवजह खींचा जा रहा है। कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष के पास कोई विकल्प नहीं बचता जब सदस्यों ने व्यक्तिगत तौर पर उनसे मुलाकात की और अपने इस्तीफे सौंपे। 

कर्नाटक संकटः सिद्धरमैया को विश्वासमत जीतने का भरोसा

चौधरी ने कहा, “अध्यक्ष की ओर से हो रही देरी चौंकाने वाली है। ऐसा लगता है कि वह उनके द्वारा पार्टी व्हिप की अवेहलना को आधार बनाकर सदस्यों को अयोग्य घोषित करने के बारे में विचार कर रहे हैं। हालांकि उनका इस्तीफा उनकी पार्टियों द्वारा किसी भी तरह की व्हिप जारी करने से पहले आया है और अध्यक्ष की इस तरह की कार्रवाई नियमों के अनुरूप नहीं होगी।''

चौधरी ने कहा कि इन विधायकों द्वारा पार्टी विह्प के संभावित उल्लंघन के इंतजार में इस फैसले को आगे बढ़ाना किसी भी सूरत में न्याय संगत नहीं दिखता है। उन्होंने कहा कि दसवीं अनुसूची के तहत कार्रवाई में भी तो सदस्यता ही समाप्त होती है। इन विधायकों द्वारा सार्वजनिक रूप से दिए गए इस्तीफे को स्वीकार नहीं करके इनकी सदस्यता समाप्त करने की बात सोचना औचित्य से परे दिखता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Accept resignations of MLAs at once Bihar Speaker urges karnataka counterpart