DA Image
3 अगस्त, 2020|11:11|IST

अगली स्टोरी

कोविड-19: कन्टेन्मेन्ट जोन में रहने वालों को लिए अनिवार्य हुआ आरोग्य सेतु ऐप

aarogya setu app must for people living in covid-19 containment zones mha guidelines on extension of

कोरोना लॉकडाउन को 17 मई तक बढ़ाने के साथ-साथ सरकार की ओर से कुछ और जरूरी दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। सरकार ने कोविड-19 संक्रमित क्षेत्रों में रहने वालों के लिए आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करना अनिवार्य कर दिया है। मतलब वो इलाके जहां कोरोना के मरीज मिले हैं और संक्रमण का खतरा है वहां के रहने वालों को अब आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा।

केंद्र सरकार पहले ही अपने कर्मचारियों को आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के निर्देश दे चुकी है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, सरकार ने यह निर्देश सभी अधिकारियों, कर्मियों और आउटसोर्स स्टाफ को दिया है। मालूम हो कि सरकार ने कोरोना वायरस के चलते पिछले दिनों आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप को लॉन्च किया था।

कर्मचारियों को जारी निर्देश में कहा गया था कि घर से दफ्तर आने से पहले वह आरोग्य सेतु ऐप पर स्टेटस जरूर चेक कर लें और तभी दफ्तर आएं जब ऐप पर 'सेफ' और 'लो रिस्क' का स्टेटस दिखे। अधिकारियों और कर्मचारियों से कहा गया है कि यदि उन्हें ऐप पर 'हाई रिस्क' या फिर 'मॉडरेट' दिखाई देता है, तब वह दफ्तर नहीं आएं और खुद को तब तक के लिए आइसोलेट कर लें जब तक ऐप पर उन्हें 'सेफ' या फिर 'लो रिस्क' नहीं दिखने लगे।

इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के लिए अपने मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करने की अपील की थी। जिसके बाद से लाखों की संख्या में लोगों ने आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड भी किया है।

बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण के जोखिम का आकलन करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा लॉन्च आरोग्य सेतु ऐप आपको यह बताता है कि आप जोखिम में हैं या नहीं। ऐप ब्लूटूथ और जीपीएस से चलता है। सरकार का दावा है कि यह ऐप कोविड-19 संक्रमण के प्रसार, जोखिम और बचाव एवं उपचार के लिए लोगों तक सही और सटीक जानकारी देने का काम करता है।

यह  भी पढ़ें- कोरोना लॉकडाउन बढ़ा, यात्री सेवाओं पर फिर लगा विराम

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Aarogya Setu app must for people living in COVID-19 containment zones MHA guidelines on extension of national lockdow