Aam aadmi party Executive meeting Today party Invite Kumar vishwas also - लोकसभा चुनाव की तैयारी : 'आप' ने बुलाई कार्यकारिणी बैठक, रूठे विश्वास को भी दिया न्योता DA Image
14 नबम्बर, 2019|11:02|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव की तैयारी : 'आप' ने बुलाई कार्यकारिणी बैठक, रूठे विश्वास को भी दिया न्योता  

आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी (आप) ने अगले साल निर्धारित लोकसभा चुनाव समय से पहले कराये जाने की आशंका को देखते हुए चुनावी रणनीति बनाने के लिये पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी (एनई) की बैठक बुलाई है। आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में होने वाली एनई की बैठक में सभी राज्यों की पार्टी इकाइयों के संयोजक और कार्यकारिणी के लगभग दो दर्जन सदस्य समय से पहले लोकसभा चुनाव कराये जाने की स्थिति में पार्टी की रणनीति पर विचार करेंगे। कार्यकारिणी के सदस्यों में केजरीवाल के अलावा मनीष सिसोदिया और कुमार विश्वास सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता शामिल हैं। 

आप के प्रवक्ता पंकज गुप्ता ने बताया कि कुमार विश्वास सहित सभी सदस्यों को बैठक में आमंत्रित किया गया है। हालांकि पार्टी नेतृत्व से नाराज चल रहे विश्वास की तरफ से यह पुष्टि नहीं हो सकी है कि वह बैठक में शामिल होंगे या नहीं। सूत्रों के अनुसार कार्यकारिणी की बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी संगठन के लिहाज से मजबूत माने जाने वाले राज्यों दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के मुद्दे पर भी विचार विमर्श होगा। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन आप के साथ गठबंधन की संभावनाओं को पहले ही सिरे से खारिज कर चुके हैं लेकिन दोनों पार्टियों के एक धड़े का दावा है कि इस दिशा में कांग्रेस हाईकमान के साथ बातचीत का सिलसिला जारी है। 
 
कार्यकारिणी की बैठक से पहले केजरीवाल के घर पर ही आप की दिल्ली के संगठन की भी एक महत्वपूर्ण बैठक बुलायी गयी है। केजरीवाल की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय के अलावा पार्टी के सभी विधायक, दिल्ली से तीनों राज्यसभा सदस्य और सभी विधानसभा क्षेत्रों के पार्टी के प्रभारी हिस्सा लेंगे। इस बैठक में दिल्ली को पूर्ण राय का दर्जा देने की मांग को जनता के बीच ले जाने की रणनीति तय की जायेगी। सूत्रों के अनुसार प्रदेश संगठन की बैठक में इस बात पर भी चर्चा की जायेगी कि लोकसभा चुनाव इस साल के अंत में कराये जाने की स्थिति में दिल्ली में भी विधानसभा भंग कर समय से पहले चुनाव कराना कितना मुफीद होगा। 

दरअसल आप दिल्ली को पूर्णराज्य का दिलाने की मांग को मुख्य मुद्दा बनाना चाहती है। साथ ही लाभ के पद के मामले में आप के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने की शिकायत पर चुनाव आयोग द्वारा कभी भी फैसला सुनाये जाने की स्थिति में इन सीटों पर होने वाले उपचुनाव की संभावनाओं के मद्देनजर पार्टी अभी से भविष्य की रणनीति बनाने में जुट गयी है। 

आमिर खान से अपनी तारिफें सुनकर सातवें आसमान में उड़ने लगीं एकता कपूर

उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार के इशारे पर उपराज्यपाल द्वारा दिल्ली सरकार को काम नहीं करने देने के बार बार आरोप लगा रहे केजरीवाल की सरकार ने पूर्ण राज्य के मुद्दे पर ही विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है। विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने इस मुद्दे पर सदन में जारी बहस को पूरा कराने और सदन से इस बारे में सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित कराने के लिये आज सत्र की कार्यवाही को एक दिन के लिये बढ़ाने का फैसला किया है। कांग्रेस के साथ गठबंधन, आप के 20 विधायकों के मामले में चुनाव आयोग के नकारात्मक फैसले की आशंका और समय पूर्व चुनाव की संभावनाओं के मद्देनजर तेजी से बदले दिल्ली के राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुये कल केजरीवाल की अध्यक्षता में होने वाली आप की दोनों बैठकें अहम हो गयी है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Aam aadmi party Executive meeting Today party Invite Kumar vishwas also