ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशकिंग कोबरा ने कार में की 200 किमी की यात्रा, सात दिनों तक इंजन में डाल रखा था डेरा; भनक तक नहीं लगी

किंग कोबरा ने कार में की 200 किमी की यात्रा, सात दिनों तक इंजन में डाल रखा था डेरा; भनक तक नहीं लगी

केरल के कोट्टायम में एक किंग कोबरा ने कार में 200 किमी की दूरी तय कर ली और चलाने वाले और बैठने वालों को भनक तक नहीं लगी। कोबरा एक-दो दिन नहीं पूरे सात दिन तक कार में डेरा डाले रखा था।

किंग कोबरा ने कार में की 200 किमी की यात्रा, सात दिनों तक इंजन में डाल रखा था डेरा; भनक तक नहीं लगी
Ashutosh Rayएजेंसी,कोट्टायमWed, 31 Aug 2022 09:59 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

केरल कोट्टायम जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहां सांपों में सबसे ज्यादा जहरीला किंग कोबरा ने कार में सवार हो कर 200 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय की और एक सप्ताह तक उसके इंजन में बैठा रहा। बाद में केरल वन्यजीव कर्मियों ने उसे सुरक्षित बाहर निकाला। उक्त मामले की सूचना कोट्टायम के अर्पुकारा क्षेत्र से मिली है। वन अधिकारियों ने बुधवार को यहां एक व्यक्ति के परिसर से 10 फुट लंबे किंग कोबरा को पकड़ा और कहा कि वह इसे बाद में सुरक्षित स्थान पर छोड़ देंगे।

माना जा रहा है कि बीती दो अगस्त को अर्पुकारा निवासी सुजीत की कार में यह जहरीला सांप दो अगस्त को मालाप्पुरम में उस समय घुस गया था जब वह वहां गए थे। हालांकि, सुजीत को कुछ स्थानीय लोगों ने बताया था कि उन्होंने वाझिकदावु में एक नाके के पास सांप को उनकी कार में घुसते देखा था। उस समय उनकी कार वहां खड़ी थी। उन्होंने कहा कि वह इस बिन बुलाए मेहमान का पता नहीं लगा पाए। 

घर के आंगन तक पहुंच आया था

रविवार को कार से लटकी हुई सांप की खाल देखकर वह और उनका परिवार तनाव में आ गए। इसके बाद दोबारा से वाहन की पूरी तलाशी लेने पर भी सांप का पता नहीं चल सका। बल्कि किंग कोबरा बुधवार सुबह उनके घर से 500 किमी दूर एक घर के आंगन में नज़र आया। पड़ोसियों को भी सुजीत की कार में सांप की संदिग्ध उपस्थिति के बारे में मालूम था, उन्होंने जल्द ही उसे सूचित किया। वहीं, सुजीत ने वन विभाग को सतर्क किया। 

इलाके में कोबरा सांपों की उपस्थित बहुत कम

हालांकि, आमतौर पर इन जगहों पर किंग कोबरा नहीं देखे जाते हैं। घटना के बाद से स्थानीय निवासियों में उत्सुकता और चिंता दोनों बढ़ गए हैं। वन अधिकारियों ने यह भी कहा कि हो सकता है कि वह वाहन में बैठकर सुरक्षित यहां पहुंच गया हो। उन्होंने बताया कि सांप को वन विभाग में स्थानांतरित कर दिया गया और बाद में उसे सुरक्षित स्थान पर छोड़ दिया जाएगा।