DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  अलीबाबा और जैक मा को गुरुग्राम की कोर्ट ने भेजा समन, पूर्व कर्मचारी ने लगाया फेक न्यूज फैलाने का आरोप

देश अलीबाबा और जैक मा को गुरुग्राम की कोर्ट ने भेजा समन, पूर्व कर्मचारी ने लगाया फेक न्यूज फैलाने का आरोप

एजेंसी,गुरुग्रामPublished By: Arun Binjola
Sun, 26 Jul 2020 05:12 PM
 अलीबाबा और जैक मा को गुरुग्राम की कोर्ट ने भेजा समन, पूर्व कर्मचारी ने लगाया फेक न्यूज फैलाने का आरोप

गुरुग्राम की एक अदालत ने एक पूर्व कर्मचारी द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए चीनी कंपनी अलीबाबा और उसके संस्थापक जैक मा को तलब किया है। पूर्व कर्मचारी ने आरोप लगाया है कि उसे गलत तरीके से नौकरी से निकाला गया है। इतना ही नहीं उसने कंपनी की ऐप्स पर फेक न्यूज और सेंसरशिप के खिलाफ आवाज उठाई थी जिसकी सजा उसे मिली है।

आपको बता दें कि भारत-चीन सीमा पर हिसंक झड़प के बाद भारत ने सुरक्षा कारणों से अलीबाबा के यूसी न्यूज़, यूसी ब्राउजर समेत 59 अन्य चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया था। इसके हफ्तों बाद यह मामला सामने आया है।

यूसी वेब में काम करने वाले पूर्व कर्मचारी पुष्पेंद्र सिंह परमार ने 20 जुलाई को शिकायत दर्ज कराई कि कंपनी सभी कंटेंट को सेंसर करती थी। इतना ही नहीं परमार ने आरोप लगाया कि यूसी ब्राउजर और यूसी न्यूज ऐप झूठी खबरें दिखाते थे, जिससे राजनीतिक और सामाजिक अस्थिरता पैदा हो।

पूर्व कर्मचारी की  शिकायत पर गुरुग्राम की सिविल जज सोनिया शिवकंड ने अलीबाबा और जैक मा को समन जारी किया है। कोर्ट ने कंपनी के प्रतिनिधियों को 29 जुलाई को हाजिर होने का आदेश दिया है और कंपनी से लिखित रूप में 30 दिनों के अंदर जवाब मांगा है।

यूसी इंडिया ने एक बयान में कहा है कि स्थानीय कर्मचारियों के साथ भारतीय बाजार के अनुसार क्या प्रतिबद्धता थी इसके बारे में हमें जानकारी नहीं है। वहां की नीतियां स्थानीय कानूनों के अनुसार होंगी।  यह मामला कोर्ट में है और हम इस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे। 

संबंधित खबरें