DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई हादसा: चार मंजिला इमारत ढहने से 10 की मौत, कईयों के दबने की आशंका

indian national disaster response force and indian fire brigade personnel rescue a survivor from aft

1 / 5Indian National Disaster Response Force and Indian fire brigade personnel rescue a survivor from after a building collapsed in Mumbai on July 16, 2019. (Photo: Kunal Patil/ HT)

 mumbai building collapse

2 / 5Mumbai Building Collapse

mumbai accident photo hindustan times

3 / 5mumbai accident photo HT photo/Kunal Patil

mumbai dongri accident

4 / 5mumbai dongri accident

mumbai building  ht photo ny bhishan koyande

5 / 5mumbai building HT photo ny Bhishan Koyande

PreviousNext

देश की आर्धिक राजधानी मुंबई में मंगलवार को डोंगरी इलाके में केसरबाई नाम की एक चार मंजिला इमारत का आधा हिस्सा ढह गया जिसके मलबे से अब तक 10 शव बरामद किये गये और आठ लोगों को जीवित निकाला गया है।
 

हादसे में घायल हुए लोगों को सरकारी जे जे अस्पताल में भतीर् कराया गया है। स्थानीय लोगों के अनुसार इमारत के मलबे में 40-50 लोगों के दबे होने की आशंका है। मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने कहा कि प्रारंभिक जानकारी के अनुसार इस इमारत में लगभग 15 परिवार थे और अभी भी मलबे के नीचे कई लोगों के दबे होने की आशंका है। हमारा पूरा प्रयास इस समय मलबे के नीचे दबे लोगों को बचाने का है।
 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस हादसे पर दुख व्यक्त किया है। श्री मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा है, “मुंबई के डोंगरी में इमारत ढहने की घटना पीड़ादायक है। मेरी संवेदनायें उन परिवारों के साथ हैं, जिन्होंने अपनों को खो दिया है। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं। महाराष्ट्र सरकार, एनडीआरएफ और स्थानीय प्रशासन राहत एवं बचाव अभियानों में जुटे हुए हैं।”
 

मृतकों की शिनाख्त हो चुकी है जिनके नाम साबिया निसार शेख (25), अब्दुल सत्तार कालू शेख (55), मुजामिल मंसूर सलमानी (15), सायरा रेहान (25), जावेद इस्माइल (34), अरहान शहजाद (4०) और कश्यप अमीराजन (13) हैं। 

 



मौके पर पहुंचे मुम्बादेवी के विधायक अमिर पटेल का कहना है कि हमार अंदाजा है कि मलबे में अभी भी 10-12 परिवार फंसे हुए हैं। एक अन्य विधायक भाई जगताप का कहना है कि निवासी लगातार महाडा से शिकायत कर रहे थे कि इमारत बहुत पुरानी है और बेहद खस्ता हाल है। इस इमारत का मालिकाना हक महाराष्ट्र आवास एवं विकास प्राधिकरण (महाडा) के पास है। संस्था के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।
 

वहीं महाडा का कहना है कि उसने यह इमारत पुन:विकास के लिए एक प्राइवेट बिल्डर को दी गयी थी और वह जिम्मेदार व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करेगी। महाडा के अध्यक्ष उदय सामंत का कहना है कि डोंगरी स्थित इमारत उसके अधिकार क्षेत्र में जरूर थी लेकिन उसे पुन:विकास के लिए प्राइवेट बिल्डर को दिया गया था। उन्होंने कहा, अगर बिल्डर ने पुन:विकास में देरी की है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यदि महाडा के अधिकारी इसे लिए जिम्मेदार हैं तो उनके खिलाफ भी कड़ी कर्रवाई होगी।

जर्जर था इमारत का आधा हिस्सा 
संकरी गली में बनी इस इमारत के नीचे दुकानें बनी थीं, जबकि इसकी ऊपरी मंजिलों पर परिवार रह रहे थे। स्थानीय लोगों ने बताया कि लगभग छह परिवार इस इमारत में रह रहे थे। इमारत का आधा हिस्सा जर्जर था, जिसके गिरने की आशंका पहले से ही थी लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। इससे आसपास के लोगों में गुस्सा भी है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:A four-storey building has collapsed in Dongri area in mumbai live updates