DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मध्यप्रदेश: राज्य में निर्वाचित 94 विधायकों पर दर्ज हैं आपराधिक मामले

आपराधिक प्रवृत्ति के उम्मीदवार

मध्यप्रदेश में पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार आपराधिक प्रवृत्ति के ज्यादा उम्मीदवार विधानसभा चुनाव जीते हैं। राज्य के 230 सदस्यों में से 94 विधायक ऐसे हैं, जिन पर आपराधिक प्रकरण दर्ज है, इनमें से 47 पर गंभीर मामले हैं। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म और नेशनल इलेक्शन वॉच द्वारा शुक्रवार को जारी ब्यौरे में कहा गया है कि राज्य में 230 विधायक निर्वाचित हुए हैं, उनके हलफनामों का अध्ययन करने पर पाया गया है कि इस बार पिछले चुनाव यानी वर्ष 2013 के मुकाबले आपराधिक प्रवृत्ति के ज्यादा विधायक चुनकर आए हैं। 

जारी ब्यौरे के अनुसार, 230 निर्वाचित सदस्यों में से 94 यानी 41 प्रतिशत ऐसे हैं, जिन पर आपराधिक मामले हैं। इनमें से 47 यानी 20 प्रतिशत ऐसे हैं, जिन पर आपराधिक मामला है। इस बार के निर्वाचित सदस्यों में आपराधिक प्रवृत्ति के सदस्यों की संख्या कहीं ज्यादा है। वर्ष 2013 में निर्वाचित सदस्यों में से 73 यानी 32 प्रतिशत ऐसे थे, जिन पर आपराधिक मामले थे। इसमें गंभीर अपराधों में लिप्त सदस्यों की संख्या 45 यानी 19 प्रतिशत थी। 

एडीआर का अध्ययन बताता है कि निर्वाचित सदस्यों में छह तो ऐसे हैं, जिन पर हत्या के प्रयास का प्रकरण दर्ज है। कांग्रेस के निर्वाचित 114 सदस्यों में 56 ऐसे हैं, जिन पर आपराधिक मामले हैं, वहीं भाजपा के निर्वाचित 109 सदस्यों में 34 के खिलाफ मामले दर्ज हैं। एक तरफ राज्य में पिछले चुनाव से ज्यादा आपराधिक मामलों में लिप्त सदस्य निर्वाचित होकर आए हैं, वहीं करोड़पति सदस्यों की संख्या भी बढ़ गई है। इस बार 187 सदस्य ऐसे हैं, जिनकी संपत्ति करोड़ों में है। पिछले चुनाव में यह संख्या 161 थी। कांग्रेस के विधायकों में 91 और भाजपा के 90 सदस्य करोड़पति हैं।

विधानसभा चुनाव नतीजे: राजस्थान-मध्यप्रदेश में अब भी सवर्णों का दबदबा

मध्यप्रदेश के नए मुख्यमंत्री कमलनाथ का देहरादून से ये है पुराना नाता

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:94 Criminal Cases on Elected candidate madhya Pradesh