9 soldiers died in gunfire in LoC on July - एलओसी पर जुलाई में हुई गोलाबारी में 9 सैनिक शहीद हुए DA Image
7 दिसंबर, 2019|10:23|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एलओसी पर जुलाई में हुई गोलाबारी में 9 सैनिक शहीद हुए

Ceasefire violation

जम्मू-कश्मीर में एक महीने के अंदर नियंत्रण रेखा पर हुई पाकिस्तानी गोलीबारी में नौ सैनिक शहीद हो गए। इसके अलावा दो नागरिकों की भी मौत हुई और 16 अन्य घायल हो गए। 

‌‌वहीं, राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के करीब 110 से ज्यादा मवेशी मारे गए। जबकि दो दर्जन रों से ज्यादा सहित करीब 35 ढांचे क्षतिग्रस्त हो गए। पाकिस्तान की ओर से लगातार गोलीबारी की वजह से सीमावर्ती इलाकों के 4000 से ज्यादा लोगों को जिले के सुरक्षित स्थानों पर पनाह लेनी पड़ी। 

सुरक्षा एजेंसियां पाकिस्तान की ओर से फायरिंग में इजाफे की वजह आतंकी समूह जमात-उद-दावा के अभियान को समर्थन देना बताती है। उसका मकसद कश्मीर मुद्दे को रेखांकित करने के लिए एलओसी को और सक्रिय बनाए रखना है। 

सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राज्य में नियंत्रण रेखा के करीब इस महीने सबसे ज्यादा संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ। इसका मकसद जम्मू-कश्मीर में ज्यादा से ज्यादा आतंकियों की घुसपैठ कराना था। उन्होंने बताया कि भारतीय बलों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का करारा जवाब दिया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:9 soldiers died in gunfire in LoC on July