DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई विमान हादसा: लैंडिंग से सिर्फ 7 मील दूर था प्लेन, बच सकती थी जान

मुंबई प्लेन हादसा (एचटी फोटो)

गुरुवार को मुंबई के भीड़भाड़ वाले इलाके घाटकोपर में 12 सीटों वाला विमान के गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई। एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर विमान तीन-चार मिनट और उड़ता तो पांचों लोगों की जान बच सकती थी।

मुंबई विमान हादसाःजिसने देखा उसने कहा-बच गए, जा सकती थी सैकड़ों जिंदगी

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सीनियर अधिकारी के अनुसार, आखिरी बार विमान के पायलट से एयर ट्रैफिक कंट्रोलर की बात तब हुई जब विमान लैंडिंग से 7 मील दूर था। 12 सीटों वाले किंग एयर सी 90 विमान ने जुहू हवाई अड्डे से दोपहर 12.20 बजे उड़ान भरी थी। विमान दोपहर एक बजकर 11 मिनट पर घाटकोपर के जागृति नगर में एक निर्माणाधीन इमारत के पास गिरा। गिरने के वक्त विमान जुहू एयरोड्रम से 7 नॉटिकल मील की दूरी पर था।

प्लेन क्रैशः पहले भी विमान हादसे का शिकार हो चुके थे पायलट पीएस राजपूत

एक अधिकारी ने बताया, मुंबई एयरपोर्ट एटीसी जुहू एटीसी के संपर्क में थी जब विमान रनवे से 2 मील की दूरी था। भौगोलिक स्थिति की वजह से जुहू में उतरने वाले विमान मुंबई एयरपोर्ट वाले रास्ते से ही होकर जाते हैं। इस केस में जब विमान 400 फीट की ऊंचाई पर था तो जुहू एयरोड्रम की ओर मुड़ गया। इसकी जानकारी मुंबई एटीसी को नहीं दी गई।

बदायूं की बेटी सुरभि की मुंबई विमान हादसे में मौत
विमान के जुहू एयरोड्रम की ओर मुड़ते ही मुंबई एटीसी को लगा कि कुछ गड़बड़ है। उसके जुहू एटीसी को बताया कि विमान जुहू से 80 नॉटिकल मील दूसरे महाराष्ट्र-गुजरात के बॉर्डर समीप है। एटीसी अधिकारियों ने बताया कि विमान क्रैश होने के वक्त तक रडार पर था। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के एक अधिकारी ने कहा, विमान ने एक बार भी खतरे का कोई संदेश नहीं भेजा। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार मुंबई में दोपहर में दृश्यता 1.5 किलोमीटर थी। विमानन क्षेत्र के एक्सपर्ट के अनुसार दृश्यता कम से कम पांच किलोमीटर होनी चाहिए। 

बरेली में है सुरभि गुप्ता का ननिहाल, हादसे का पता चलते ही मचा कोहराम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:7 miles from landing What happened moments before the Mumbai plane crash