ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशपाक में लिंच करने वाले 6 लोगों को फांसी हुई और भारत में मालाओं से स्वागत: महबूबा मुफ्ती

पाक में लिंच करने वाले 6 लोगों को फांसी हुई और भारत में मालाओं से स्वागत: महबूबा मुफ्ती

जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर भारत के खिलाफ जहर उगला। कहा कि पाकिस्तान में लिंचिंग के दोषियों को फांसी दी जाती है और भारत में इस तरह के दोषियों का मालाओं से स्वागत..

पाक में लिंच करने वाले 6 लोगों को फांसी हुई और भारत में मालाओं से स्वागत: महबूबा मुफ्ती
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 25 May 2022 02:57 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा और भारत के खिलाफ जहर उगला। पाकिस्तान से तुलना करते हुए मुफ्ती ने कहा कि पाकिस्तान में एक व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। वहां इस गुनाह के दोषियों को फांसी और आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई लेकिन, भारत में ऐसा नहीं होता। साल 2015 से भारत में कई अखलाकों को मार डाला गया लेकिन उनके दोषियों को माला पहनाकर स्वागत किया जाता है।

मंगलवार को पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर लिंचिंग के दोषियों को पनाह देने और देश में सांप्रदायिक हिंसा को भड़काने का आरोप लगाया। मुफ्ती ने कहा कि पाकिस्तान और भारत की सरकार में यही अंतर है। आतंकपरस्त देश पाकिस्तान की तारीफ करते हुए मुफ्ती ने कहा पाकिस्तान में लिंचिंग समेत तमाम कुकृत्यों के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाती है। लिंचिंग के दोषियों को फांसी और आजीवन कारावास की सजा सुनाई जाती है लेकिन, साल 2015 के बाद ( केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद) कई अखलाकों को यहां (भारत) मार डाला गया है। इस गुनाह के दोषियों को माला पहनाई जाती है, लेकिन दंडित नहीं किया जाता है। 

महबूबा मुफ्ती ने आगे कहा कि पाकिस्तान की न्यायपालिका और यहां की न्यायपालिका में यही अंतर है। गौरतलब है कि 28 सितंबर  2015 में ग्रेटर नोएडा में अखलाक नाम के एक शख्स को भीड़ ने इसलिए मौत के घाट उतार दिया था क्योंकि भीड़ को शक था कि उसने अपने घर में गोवंश पकाकर खाया है। इस केस में 24 दिसंबर 2015 को नोएडा पुलिस ने हत्याकांड के 15 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी।

epaper