DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शादीशुदा किशोरियों में 32 फीसदी 15-19 साल की उम्र में मां बनीं : रिपोर्ट

 यूपी: शादी के चार दिन बाद घर वालों को बेहोश कर ज्वेलरी और कैश लेकर दुल्हन हुई फरार

देश में पिछले कुछ वर्षों में शादीशुदा किशोरियों में से 32 फीसदी 15 से 19 साल की उम्र में मां भी बनीं। एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। एनसीपीसीआर और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की ओर से बाल विवाह और किशोरावस्था में गर्भवती होने से जुड़ी रिपोर्ट बुधवार को जारी गई।

यह रिपोर्ट 2015-16 की अवधि की है। रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में बाल विवाह के मामलों में कमी आई है, लेकिन लड़कियों के किशोरावस्था में मां बनना अभी भी एक चिंता का विषय बना हुआ है।

रिपोर्ट के अनुसार, कुल शादीशुदा किशोरियों में 32 फीसदी 15-19 साल की उम्र में मां बनीं और यह बेहद का चिंता का विषय है।

इसमें कहा गया है कि बाल विवाह के संदर्भ में राजस्थान, पश्चिम बंगाल, त्रिपुरा, असम, बिहार और झारखंड के कई जिलों पर विशेष नीतिगत ध्यान देने की जरूरत है।

रिपोर्ट के मुताबिक ग्रामीण भारत में 15-19 साल की उम्र में बाल विवाह का आंकड़ा 14.1 फीसदी और तो शहरी भारत में यह आंकड़ा 6.9 फीसदी है।

गौरतलब है कि भारत में लड़कियों के लिए शादी की कानूनी उम्र 18 साल और लड़कों के लिए 21 साल है। 

तीन तलाक-हलाला का विरोध करने वाली पीड़िता और उसके बेटे पर एसिड अटैक

कैंसर से जूझ रही दुष्कर्म पीड़िता खत्म करना चाहती है 24 हफ्ते का गर्भ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:32 percent of married teens became mother at 15 to 19 years old says report