ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशखुलासा: भारत को फिर दहलाने की फिराक में जैश-ए-मोहम्मद, बालाकोट में 27 आतंकियों को दी जा रही ट्रेनिंग

खुलासा: भारत को फिर दहलाने की फिराक में जैश-ए-मोहम्मद, बालाकोट में 27 आतंकियों को दी जा रही ट्रेनिंग

पाकिस्तान के जिस बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को पिछले साल फरवरी में भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक कर ध्वस्त कर दिया था, अब वह फिर से सक्रिय हो गया है। इतना ही नहीं,...

खुलासा: भारत को फिर दहलाने की फिराक में जैश-ए-मोहम्मद, बालाकोट में 27 आतंकियों को दी जा रही ट्रेनिंग
शिशिर गुप्ता,नई दिल्लीFri, 07 Feb 2020 07:50 AM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान के जिस बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को पिछले साल फरवरी में भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक कर ध्वस्त कर दिया था, अब वह फिर से सक्रिय हो गया है। इतना ही नहीं, जैश-ए-मोहम्मद के इस आतंकी कैंप में भारत में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए 27 आतंकवादियों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है। यह जानकारी इंटेलीजेंस और काउंटर टेरर ऑपरेटिव्स ने दी है। बता दें कि इससे पहले भी लाइव हिन्दुस्तान जैश के इस कैंप के सक्रिय होने की खबर दे चुका है। 

पिछले साल फरवरी में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिल पर आतंकी हमले के बाद भारत ने एयर स्ट्राइक किया था और भारत में आगे कोई आतंकी हमले न हो इसके लिए भारतीय वायुसेना ने बमबारी कर जैश के ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। मगर अब आतंकी संगठन जैश के इस बालाकोट कैंप को आतंकी मौलाना मसूद अजहर का बेटा यूसुफ अजहर चला रहा है और आतंकी यूसुफ भारत के खिलाफ आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए 27 जिहादियों को ट्रेनिंग दे रहा है।   

काउंटर टेरर ऑपरेटिव्स के मुताबिक, बालाकोट कैंप में ट्रेनिंग ले रहे इन 27 आतंकियों में से आठ पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के हैं। इन्हें पाकिस्तान स्थित पंजाब के दो और अफगानिस्तान के तीन प्रशिक्षकों द्वारा ट्रेन्ड किया जा रहा है। नाम जाहिर न होने की शर्त पर ऑपरेटिव्स ने कहा कि खूफिया विभाग ने जानकारी दी है कि इस सप्ताह तक उनकी ट्रेनिंग खत्म हो जाएगी, जिसके बाद ये आतंकवादी भारत में घुसने के लिए तैयार होंगे। ऑपरेटिव्स के मुताबिक, पाकिस्तान के बालाकोट में जिस वक्त भारत ने एयर स्ट्राक किया था, उस वक्त इस कैंप में करीब 300 आतंकी ट्रेनिंग ले रहे थे। 

गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानें ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंप पर बमबारी की थी और कैंप को तबाह कर दिया था। हालांकि, पाकिस्तान इससे इनकार करता रहा है। मगर भारत सरकार ने इसके सबूत भी दिए। दरअसल, 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला कर दिया था, जिसमें करीब 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे। इसी के जवाब में भारत ने 26 फरवरी को एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश की कमर तोड़ी थी। इसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति पैदा हो गई। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें