DA Image
18 अक्तूबर, 2020|8:14|IST

अगली स्टोरी

2012 दिल्ली गैंगरेप केस की वकील ने कहा- हाथरस के पीड़ित परिवार ने बुलाया, प्रशासन नहीं दे रहा मिलने की इजाजत

2012 delhi gangrape case lawyer seema kushwaha  ani twitter pic

बहुचर्चित 2012 दिल्ली गैंगरेप केस में निर्भया के माता-पिता की ओर से केस लड़ने वाली वकील ने कहा कि उन्हें हाथरस गैंगरेप की पीड़िता के परिवार ने बुलाया है। लेकिन, उन्होंने उत्तर प्रदेश प्रशासन पर पीड़िता के परिवार से न मिलने देने का आरोप लगाया।

वकील सीमा कुशवाहा ने मीडिया से बात करते हुए गुरुवार को कहा कि पीड़िता का परिवार चाहता है कि वे कानून तौर पर उनका पक्ष रखें, लेकिन प्रशासन मिलने की इजाजत नहीं दे रहा। कुशवाहा ने आगे कहा- “हाथरस में पीड़िता के परिवार से मुझे मिलने की इजाजत प्रशासन की तरफ से नहीं दिया जा रहा है। यह कहा जा रहा है कि इससे कानून व्यवस्था प्रभावित होगा।”

इधर, हाथरस गैंगरेप केस में मेडिकल रिपोर्ट के बाद विधि विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) की रिपोर्ट सामने आने के बाद इस केस में नया ट्विस्ट सामने आ गया है। उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि एफएसएल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है। मेडिकल रिपोर्ट में भी रेप की पुष्टि नहीं हुई थी।

गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा, 'पीड़ित युवती का पोस्टमार्टम दिल्ली में हुआ था। परिवारजनों की सहमति के बाद पीड़िता का अंतिम संस्कार कराया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गले की चोट और उसके कारण हुए ट्रॉमा को मौत का कारण बताया गया है। इसी बीच विधि विज्ञान प्रयोगशाला की रिपोर्ट भी प्राप्त हो गई है। इसमें स्पष्ट रूप से बताया गया है कि जो सैंपल इकट्ठे किए गए थे, उसमें किसी तरह का स्पर्म या शुक्राणु नहीं पाया गया है।'

प्रशांत कुमार ने आगे कहा, 'इससे स्पष्ट होता है कि कुछ लोगों के द्वारा प्रदेश में गलत तरीके से जातीय तनाव पैदा करने के लिए इस तरह की चीजें कराई गईं। पुलिस ने शुरू से इसमें त्वरित कार्रवाई की है। अब हम आगे की विधिक कार्रवाई करेंगे। ऐसे लोगों की पहचान की जाएगी जो प्रदेश में सामाजिक सद्भाव बिगाड़ना चाहते थे और जातीय हिंसा को भड़काना चाहते थे।'

14 सितंबर को गांव चंदपा की युवती अपनी मां के साथ खेत पर गई थी और आरोप के मुताबिक सासनी निवासी एक युवक ने उस पर जानलेवा हमला किया था। युवती ने सीओ सादाबाद को दिए बयान में तीन और युवक के नाम बताए थे, जिसके बाद पुलिस ने केस में गैंग रेप की धारा बढ़ा दी थी। इस मामले में पुलिस चारों आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:2012 Delhi gangrape case lawyer Seema Kushwaha says Hathras victim family called but administration not giving permission