DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केरल में फर्जी वोट डालते 2 महिलाएं कैमरे में कैद, मुख्य चुनाव अधिकारी ने मांगी रिपोर्ट

women in queue to cast their vote at polling station in kozhikode kerala   pti april 23  2019

केरल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी टीका राम मीणा ने शनिवार को कासरगोड और कन्नूर के जिलाधिकारियों से कासरगोड लोकसभा क्षेत्र में कई मतदान केंद्रों पर कथित फर्जी मतदान को लेकर रिपोर्ट मांगी। मीणा ने यहां संवाददाताओं से कहा, ''हमें कुछ स्थानों से शिकायतें मिली हैं। चुनाव आयोग इस संबंध में आगे की कार्रवाई करेगा। हम रिपोर्ट की प्रतीक्षा कर रहे हैं। हम ऐसी सभी शिकायतों का परीक्षण करेंगे।"

स्थानीय टीवी चैनलों ने महिलाओं समेत कुछ लोगों के कासरगोड निर्वाचन क्षेत्र के दो मतदान केंद्रों पर दो बार वोट डालने की तस्वीरें दिखायी थीं। कासरगोड में 23 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में मतदान हुआ था।

विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नीतला ने कहा, ''वीडियो सबूत से यह नजर आ सकता है कि वाम ने कासरगोड निर्वाचन क्षेत्र में करीब 5000 फर्जी मतदान किये। हम उपयुक्त कानूनी कदम उठायेंगे। हमने चुनाव अधिकारियों से मतदान के दिन से बहुत पहल ही ऐसे अवैध तरीकों की शिकायत की लेकिन अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर सके।"

सपा-बसपा-कांग्रेस पर PM मोदी का वार, 'जात पात जपना, जनता का माल अपना'

केरल में फर्जी वोट डालते 2 महिलाएं कैमरे में कैद
केरल के कासरगोड लोकसभा क्षेत्र के मतदान केंद्रों पर दो महिलाओं को दो बार वोट डालते हुए फूटेज शनिवार को स्थानीय टीवी चैनलों पर सामने आया। इस सीट के लिए तीसरे चरण में 23 अप्रैल को 19 अन्य संसदीय सीटों के साथ मतदान हुआ था। कासरगोड से कांग्रेस उम्मीदवार राजमोहन उन्नीथन ने कहा कि माकपा के वर्चस्व वाले इलाकों में फजीर् मतदान कोई नई बात नहीं है, यह आम बात है। 

पूर्व विधायक और कासरगोड से माकपा के वरिष्ठ नेता के. पी. सतीशचंद्र के खिलाफ चुनाव लड़ रहे उन्नीथन ने कहा, “हम बहुत समय पहले से यह बात कह रहे हैं, परंतु कुछ नहीं हो रहा है। इस तरह के अलोकतांत्रिक कार्य के प्रति सख्ती से कार्रवाई होनी चाहिए।” कन्नूर से कांग्रेस प्रत्याशी और पूर्व सांसद के. सुधाकरण ने कहा कि वह फजीर् मतदान के इस फूटेज को देखकर ज्यादा हैरान नहीं हुए हैं, क्योंकि वह खुद इन चीजों के पहले ही शिकार हो चुके हैं। 

सुधाकरण ने कहा, “कन्नूर में माकपा के लोगों द्वारा फर्जी मतदान कोई नई बात नहीं है। मंगलवार को हमने इसे लेकर जिला कलेक्टर को जानकारी दी थी। जिसके बाद उन्होंने कहा था कि वह मामले को देखेंगे। लेकिन हमेशा की तरह इस तरह की गतिविधियों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। हम मामले को लेकर और सबूत इकट्ठा कर रहे हैं और कानूनी कर्रवाई करेंगे।”

राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी, टीकाराम मीणा ने मीडिया को बताया कि मामले में पहले ही कार्रवाई की जा चुकी है, घबराने की कोई बात नहीं है। मीणा ने कहा, “मतदान की रिकॉर्डिंग करने का मकसद इन्हीं चीजों (जाली वोटिंग) को रोकना था। जैसे ही हम आधिकारिक शिकायत प्राप्त करते हैं, हम वह करेंगे, जो करना चाहिए।”

विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने कहा, “हम हर उचित कानूनी कदम उठाएंगे। जो अधिकारी इस तरह की धांधली में शामिल थे, उनपर भी कार्रवाई की जानी चाहिए। हमने चुनाव अधिकारियों को मतदान से कई दिन पहले इस तरह की धांधली के बारे में आगाह किया था। लेकिन अधिकारियों ने कोई कदम नहीं उठाया।”

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2 Woman bogus voting Caught in camera Kerala CEO seeks report