2 killed in another Meghalaya East Jaintia Hills district mine collapse - मेघालय: एक और कोयला खदान हादसे में 2 मजदूरों की मौत, 15 श्रमिकों को निकालने का काम जारी DA Image
8 दिसंबर, 2019|1:56|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेघालय: एक और कोयला खदान हादसे में 2 मजदूरों की मौत, 15 श्रमिकों को निकालने का काम जारी

  2 killed in another Meghalaya East Jaintia Hills district mine collapse

मेघालय (Meghalaya) के पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले (East Jaintia Hills District) के मूकनोर जलिया गांव में कोयले की अवैध खान में काम कर रहे दो खदान कर्मियों की मौत हो गई है। यह हादसा ऐसे समय में हुआ है जब पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले में ही पानी से भरी हुई एक कोयला खदान में फंसे हुए 15 श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए बचाव एवं राहतकर्मी पिछले तीन सप्ताह से जुटे हुए हैं। 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि यह घटना उस समय सामने आई जब फिलीप बारेह नामक एक व्यक्ति ने अपने भतीजे इलाद बारेह के शुक्रवार को घर से लापता होने की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस अधीक्षक सिल्वेस्टर नोंगटगर ने बताया कि इलाद की तलाश करने पर उसका शव एक अवैध कोयला खदान में मिला। इसके अलावा पुलिस ने मनोज बसुमैत्री नामक एक अन्य नाबालिग का भी शव बरामद किया। 

24 दिनों से खदान में फंसे 15 श्रमिक, पानी अब भी 100 फुट से ज्यादा

पुलिस के मुताबिक कोयला निकालने के दौरान बोल्डर से चोट लगने के कारण उनकी मौत हो गयी। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है तथा अवैध कोयला खदान मालिक को पकड़ने के लिए प्रयास कर रही है। 

अवैध कोयला खदान रोकने में विफल मेघालय सरकार पर 100 करोड़ का जुर्माना

राज्य में कोयला खदानों की इन दुर्घटनाओं से पता चलता है कि राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) की ओर से 17 अप्रैल 2014 को मेघायल में कोयला खनन पर अंतरिम प्रतिबंध लगाने के बावजूद अवैध खनन जारी है। एनजीटी ने राज्य में अवैध कोयला खनन को रोकने में नाकामयाब रहने के कारण मेघायल सरकार पर 100 करोड़ रुपये का जुमार्ना लगाया था।

मेघालय खदान हादसा: केंद्र ने SC में कहा-नक्शा नहीं होने से दिक्कतें

 
खदान में फंसे श्रमिकों का बचाव कार्य प्रभावित

मेघालय के पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले में एक बाढ़ग्रस्त अवैध कोयला खदान में पिछले 24 दिन से फंसे श्रमिकों के लिए चलाए जा रहे बचाव अभियान में रविवार को उस वक्त बाधा आई, जब खदान से पानी निकालने के काम में लगाए गए दो उच्च क्षमता वाले पंपों में तकनीकी खराबी आ गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 

मेघालय: 22 दिन से फंसे मजदूरों के रेस्क्यू पर SC ने जताई थी नाराजगी

अभियान के प्रवक्ता आर सुसंगी ने बताया कि मेन शाफ्ट से पानी निकालने की खातिर हाल में उच्च क्षमता वाले पंप लगाए गए थे। किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड के दो पंप और कोल इंडिया के सबमर्सिबल पंप में खराबी आई है, जिससे मेन शाफ्ट से पानी निकालने का काम प्रभावित हुआ। पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले के लुमथरी गांव में अवैध कोयला खदान के भीतर 13 दिसंबर से ही 15 श्रमिक फंसे हुए हैं। पास से बहने वाली एक नदी का पानी इस खदान में घुसने के बाद ये श्रमिक खदान में फंस गए थे।  
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2 killed in another Meghalaya East Jaintia Hills district mine collapse