1993 Mumbai blasts case know all about Tahir Merchant, Firoz Khan who got death sentence - 1993 मुंबई सिलसिलेवार बम धमाके: ताहिर मर्चेंट और फिरोज राशिद खान को फांसी, जानें इनके बारे में DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

1993 मुंबई सिलसिलेवार बम धमाके: ताहिर मर्चेंट और फिरोज राशिद खान को फांसी, जानें इनके बारे में

mumbai blast

मुंबई की विशेष टाडा अदालत ने 1993 के मुंबई सिलसिलेवार बम धमाकों में अबु सलेम और करीमुल्लाह को उम्रकैद की सजा सुनाई है। कोर्ट ने दोनों पर दो लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। वहीं कोर्ट ने ताहिर मर्चेंट और फिरोज राशिद खान को फांसी की सजा सुनाई है। 

जानें ताहिर मर्चेंट और फिरोज राशिद खान का मुंबई सिलसिलेवार बम धमाकों में क्या रोल था:  

ताहिर मर्चेंट: ताहिर मर्चेंट सह अभियुक्तों जो पाकिस्तान ट्रेनिंग लेने जाते थे उनके लिए आने-जाने की व्यवस्था करता था। अभियोग पक्ष का कहना है, 'ताहिर मर्चेंट और करीमुल्लाह उनके लिए पासपोर्ट का इंतजाम करते थे। यही नहीं मर्चेंट दुबई में साजिश रचता था और पाकिस्तान में हथियारों की ट्रेनिंग के लिए मुंबई से लोगों को भेजने के लिए अपने सहयोगियों से कहता था। वह हथियारों की खरीदने के लिए पैसे एकत्रित करता था। 

फिरोज खान: 8 जनवरी 1993 ब्लास्ट से दो महीने पहले मोहम्मद दौसा ने फिरोद अब्दुल राशिद खान को और दूसरे आरोपी को अलीबाग भेजा। जिससे वो कस्टम अधिकारियों और लैंडिंग एजेंट को सूचना दे कि हथियार और विस्फोटक अगले दिन वहां आने वाले हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:1993 Mumbai blasts case know all about Tahir Merchant, Firoz Khan who got death sentence