DA Image
4 मार्च, 2021|10:11|IST

अगली स्टोरी

LIVE: तोमर के किसानों का साथ मिलने के दावे पर येचुरी का वार, बोले- कृषि मंत्री को नहीं पता कौन हैं किसान

1 / 6नरेंद्र सिंह तोमर और येचुरी

2 / 6हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से उनके आवास पर मुलाकात की और हरियाणा में चल रही और विभिन्न प्रस्तावित परियोजनाओं पर चर्चा की।

kailash chaudhary

3 / 6kailash chaudhary

gurnam singh

4 / 6GURNAM SINGH

farmers

5 / 6farmers

kisan

6 / 6kisan

PreviousNext

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन लगातार 19वें दिन जारी है। केंद्र सरकार पर नए कृषि कानूनों को वापस लेने का दबाव बनाने के लिए किसानों में अब अनोखा फैसला लिया है। देशभर में सभी किसान सोमवार को सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक उपवास रखना तय किया है। किसानों का उपवास जारी है। साथ ही सभी जिला मुख्यालय पर धरना दे रहे हैं। इस बीच, सीताराम येचुरी ने कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर पर वार करते हुए कहा है कि उन्हें यही नहीं मालूम है कि किसान कौन हैं। दरसअल, तोमर ने दावा किया था कि कई किसान नेताओं ने कृषि कानूनों का समर्थन किया है। इससे पहले, राजधानी के आसपास के क्षेत्रों में प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओ ने रविवार को बैठक की। बैठक में तय किया गया कि किसान सिंधु, टीकरी, पलवल, गाजीपुर सहित सभी नाको पर अनशन पर बैठेंगे। बैठक के बाद किसान नेता शिव कुमार कक्का ने कहा कि हमारा रुख स्पष्ट है, हम चाहते हैं कि तीनों कृषि कानूनों को फौरन निरस्त किया जाए। इस आंदोलन में भाग लेने वाले सभी किसान यूनियन एक साथ हैं।

LIVE UPDATES

- कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के किसान संगठनों के समर्थन वाले दावे पर सीपीआईएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने पलटवार किया है। येचुरी ने कहा, ''कृषि मंत्री को पता नहीं है कि कौन किसान हैं। इस तरह के कृषि मंत्री कैसे हो गए। किसान अपने ट्रैक्टर लेकर आ रहें है। ट्रैक्टर किसके पास होता है? किसानों के पास। वे आ रहें है, लंगर लगा रहे हैं, अपना विरोध जता रहे हैं, उनकी मांग जायज है।''

किसान संगठनों से मुलाकात के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा, ''अखिल भारतीय किसान समन्वय समिति के सदस्य तमिलनाडु, तेलंगाना, महाराष्ट्र, बिहार से आए थे। उन्होंने कृषि कानूनों का समर्थन किया और हमें उसी पर एक पत्र दिया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए ऐसा किया है और वे इसका स्वागत और समर्थन करते हैं।''

- अखिल भारतीय किसान समन्वय समिति से जुड़े उत्तर प्रदेश, केरल, तमिलनाडु, तेलंगाना, बिहार और हरियाणा जैसे विभिन्न राज्यों के 10 संगठनों ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की। सभी ने तीनों कृषि कानूनों पर अपना समर्थन जताया है।

- आम आदमी पार्टी पहले दिन से किसानों के आंदोलन के समर्थन में है। हमने दिल्ली में स्टेडियम को जेल बनने से रोका, किसानों की सेवा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री को हाउस अरेस्ट किया गया लेकिन हमारी लड़ाई और समर्थन जारी रहेगा: गोपाल राय, दिल्ली सरकार में मंत्री

- दिल्ली: हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से उनके आवास पर मुलाकात की और हरियाणा में चल रही और विभिन्न प्रस्तावित परियोजनाओं पर चर्चा की।

-कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि मैं किसानों से अपील करता हूं कि फार्म बिल से संबंधित मुद्दों को हल करें। यदि किसान इन बिलों में कुछ जोड़ना चाहते हैं, तो यह बहुत संभव है, लेकिन यह पूरी तरह 'हां या न' नहीं हो सकता है। एक साथ बैठने से समाधान होता है।

 

-भारतीय किसान यूनियन (हरियाणा) के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चंदूनी ने कहा कि सरकार एमएसपी पर सभी को गुमराह कर रही है। गृह मंत्री अमित शाह ने 8 दिसंबर की बैठक के दौरान हमें जवाब दिया कि वे सभी 23 फसलों को एमएसपी पर नहीं खरीद सकते क्योंकि इसकी लागत 17 लाख करोड़ रुपये है। 

 

-राजस्थान के जयसिंहपुर-खीरी सीमा (राजस्थान-हरियाणा) के पास शाहजहाँपुर में धरना-प्रदर्शन आज दूसरे दिन भी जारी है। सुरक्षाकर्मी तैनात हैं।

 

 

 

 

-दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने बताया  सिंघू, औचंदी, पियाउ मनियारी, सबोली और मंगेश सीमाएं बंद हैं। कृपया लामपुर, सफियाबाद और सिंघू स्कूल टोल टैक्स सीमाओं के माध्यम से वैकल्पिक मार्ग लें। मुकरबा और जीटीके रोड से ट्रैफिक डायवर्ट किया गया है। कृपया आउटर रिंग रोड, GTK रोड और NH-44 से न जाएं। 

-BKU (पंजाब) के जनरल सेक्रेटरी हरिंदर सिंह लखोवाल ने कहा कि हम सरकार को जगाना चाहते हैं। इसलिए, हमारे संयुक्त किसान मोर्चा के 40 किसान नेता आज सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे के बीच सभी सीमाओं पर भूख हड़ताल पर बैठेंगे। इनमें से 25 सिंघू बॉर्डर पर, 10 टिकरी बॉर्डर पर और 5 यूपी बॉर्डर पर।

-सिंघू (दिल्ली-हरियाणा सीमा) पर किसान नेता भूख हड़ताल पर बैठे। किसानों का  विरोध का आज 19 वां दिन है।

-किसान आंदोलन का आज 19वां दिन है और सरकार किसानों की मांग मानने को तैयार नहीं है। ऐसे में किसानों ने आज भूख हड़ताल का फैसला किया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:14 december 2020 against new farm laws agriculture bill 2020-by prime minister narendra modi government