DA Image
3 जून, 2020|9:50|IST

अगली स्टोरी

कोरोना कहर के 100 दिन: दुनियाभर में मरीजों की संख्या 16 लाख के पार, 95 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

corona

नए साल का पहला दिन जब हर कोई जश्न में डूबा था, तब चीन में नया जानलेवा वायरस जन्म लेने की चेतावनी सामने आई और देखते ही देखते यह पूरी दुनिया को बेबस कर देने वाली महामारी में तब्दील हो गई, जिसने सभी देशों को न भूलने वाले सबक दिए हैं। चीन ने 31 दिसंबर और 01 जनवरी की रात 01.38 बजे अधिकृत तौर पर इस वायरस का खुलासा किया, जो 1.1 करोड़ आबादी वाले वुहान के खुले मांस बाजार से फैला। 100 दिन में कोरोना से दुनिया भर में मरीजों की संख्या 16 लाख के पार पहुंच गई है और 95 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

01 जनवरी
वुहान का मांस बाजार बंद
वुहान का मांस-मछलियों का बाजार बंद। रहस्यमय बीमारी की खबरें चीन के सोशल मीडया में वायरल। ताइवान, हांगकांग और सिंगापुर ने सबसे पहले स्क्रीनिंग शुरू की। 

09  जनवरी
नोवेल कोरोनावायरस की पहचान
चीनी वैज्ञानिकों ने सार्स, मार्स से अलग नए कोरोना वायरस की पहचान की। वुहान में 61 साल के पहले मरीज की मौत।

13 जनवरी-चीन से बाहर पहला केस
चीन से बाहर थाईलैंड में पहला केस मिला। चीन ने कहा कि मानव से मानव में संक्रमण के संकेत नहीं हैं। एक हफ्ते में सैकड़ों केस मिले।

20 जनवरी 
चीन ने माना, इंसानों में संक्रमण फैला। बीजिंग, शंघाई और गुआंगदोंग में प्रसार। अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया में पहला केस।  

24 जनवरी -वुहान में लॉकडाउन
वुहान में लॉकडाउन का ऐलान। 800 से ज्यादा मामले और 25 मौतों का खुलासा। फ्रांस पहुंचा। अमेरिका बोला हमें खतरा नहीं। 

31 जनवरी -भारत में पहला मरीज
भारत, ब्रिटेन, स्पेन और इटली में पहला मरीज सामने आया। इटली, स्पेन ने कहा कि हमें कोई खतरा नहीं। चीन में संक्रमित 11 हजार और 258 मरे। अमेरिका ने चीन यात्रियों पर पाबंदी लगाई।

चार फरवरी-चीन के बाहर पहली मौत, बेपरवाह ट्रंप
चीन में कुल मरीज 20 हजार और 425 मौतें हुईं। चीन से बाहर पहली मौत फिलीपींस में हुई। व्हिसलब्लोअर डॉक्टर ली वेनलियांग की मौत। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने चेतावनी पर ट्रंप बोले-गर्मी बढ़ते ही बीमारी दूर होगी।

19 फरवरी-दक्षिण कोरिया का चर्च बना मुसीबत
दक्षिण कोरिया में संक्रमित महिला 1200 की भीड़ वाली चर्च में पहुंची, इससे मामलों की बाढ़ आ गई। ईरान पहुंचा वायरस। संक्रमण से बेखबर इटली और स्पेन में फुटबॉल के बड़े मैच हुए। 

25 फरवरी -दुनिया भर में खतरे की घंटी
80 हजार पहुंचे मामले दुनिया में। इटली में 11 मौतें हुईं और बेरगामो में क्वारंटाइन लागू। ईरान के कौम में 50 से ज्यादा मौतों से हड़कंप। भारत दौरे पर ट्रंप ने फिर कहा, अमेरिका सुरक्षित।

06 मार्च- इटली में छह गुना बढ़ीं मौतें
इटली में छह दिन में छह गुना बढ़ीं मौतें, दस हजार हुए मामले। ब्रिटेन में संक्रमण से पहली मौत, पर पीएम बोरिस जानसन ने कहा कि हाथ मिलाना जारी रखेंगे। 

11 मार्च---कोविड-19 महामारी घोषित
डब्ल्यूएचओ द्वारा महामारी घोषित करने के साथ दुनिया में एक लाख 16 हजार और अमेरिका में मामले एक हजार के पार। अमेरिका, ब्रिटेन और भारत में बाजार लुढ़के। इटली में एक दिन में 168 मौतें। ब्रिटेन का सोशल डिस्टेंसिंग से इनकार।

17 मार्च- यूरोप की सीमाएं सील
यूरोपीय देशों ने सीमाएं सील कीं। फ्रांस ने युद्ध जैसी स्थिति घोषित की। स्पेन में 17 हजार मामले हुए। एक लाख 60 हजार पहुंचे दुनिया में मरीज।

22-23 मार्च
22 मार्च को भारत में जनता कर्फ्यू रहा। ब्रिटेन में 6600 केस के बाद लॉकडाउन। 24 मार्च से भारत में लॉकडाउन।  न्यूयॉर्क में 5 हजार के साथ अमेरिका में 20 हजार मरीज मिले। मार्च अंत तक आधी दुनिया में लॉकडाउन। 03 लाख 70 हजार हुए विश्व में मरीज।

02 अप्रैल ---50 हजार पहुंचा मौतों का आंकड़ा
10 लाख से ज्यादा मरीज हुए दुनिया में और 50 हजार से ज्यादा मौतें। भारत में कुल मरीज 2069 हुए। स्पेन में एक दिन में रिकॉर्ड 950 मरे। अमेरिका में ढाई लाख केस और मौतों का आंकड़ा छह हजार पहुंचा।

99वां दिन 08 अप्रैल
संक्रमित ब्रिटिश पीएम बोरिस जानसन की हालत गंभीर। 6500 मौतें हुईं विश्व भर में चार अप्रैल को। आठ अप्रैल को कुल मामले 13 लाख और मरने वालों की तादाद 75 हजार पार कर गई।

सबक---
महामारी की मारक क्षमता को नजरअंदाज किया गया
दुनिया के बड़े देशों ने एक साथ कड़े कदम नहीं उठाए
चर्च, मस्जिदों और क्रूज में बड़े जमावड़े से बिगड़ी बात
महामारी घोषित होने में डब्ल्यूएचओ ने कर दी देर

संकट---
60 फीसदी वैश्विक आबादी लॉकडाउन से घरों में कैद
1930 से भी बड़ी आर्थिक मंदी की आशंका दुनिया में
नए वायरस की कोई दवा या टीका अभी विकसित नहीं
हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन या अन्य दवाइयों का प्रभाव

ऐसी भयावह हुई महामारी
06 मार्च-01 लाख
---20 दिन---
26 मार्च-05 लाख
---05 दिन----
01 अप्रैल-10 लाख
---07 दिन----
08 अप्रैल-15 लाख

विश्व में 95080 लोगों की मौत, 15.92 लाख संक्रमित

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है और अब विश्व के अधिकतर देशों (205 देशों और क्षेत्रों) में फैल चुके इस संक्रमण के कारण अब तक 95080 लोगों की मौत हो चुकी है तथा 1592036 लोग इससे संक्रमित हुए हैं। विश्वभर में अब तक 3.53 लाख लोग इस वायरस से ठीक भी हुए हैं। वहीं भारत में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ रहा है और पिछले 12 घंटे में 547 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 6412 हो गई है। कोविड-19 महामारी से बीते 12 घंटे में रिकॉर्ड 30 लोगों की मौतें हुई हैं, जिससे मरने वालों का आंकड़ा 199 पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस के कुल 6412 मामलों में से 5709 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 503 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह 8 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस से सर्वाधिक 97 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 1586 हो गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:100 days of corona havoc: worldwide number of patients crosses 16 lakhs more than 95 thousand people died