DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीहरिकोटा में 10 हजार लोग बैठकर देख सकेंगे चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग

symbolic image

करीब 10 हजार लोगों को जुलाई के पहले पखवाड़े में चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग देखने का मौका मिल सकता है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) इसके लिए तैयारियों में जुट गया है। आंध्र प्रदेश के द्वीप श्रीहरिकोटा में बने सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र में इसके लिए एक विशाल स्टेडियम बनाया जा रहा है।

इसरो के पूर्व चैयरमैन ए. एस. किरण कुमार ने बताया कि इसरो की सभी लॉन्चिंग को जनता के लिए खोलने का निर्णय लिया गया है। इसकी शुरूआत अप्रैल में पीएसएलवी सी-45 की लॉन्चिंग से हुई है जिसमें डीआरडीओ के उपग्रह एमिसेट और 28 विदेशी उपग्रह छोड़े गए थे। लेकिन क्षमता की कमी के कारण तब सिर्फ एक हजार लोगों को लॉन्चिंग देखने की अनुमति दी गई थी। लेकिन चंद्रयान-2 की लांचिग तक इस क्षमता को बढ़ा दिया जाएगा और दस हजार लोगों को वहां बैठकर इस ऐतिहासिक लांचिग देखने का मौका मिलेगा।

श्रीहरिकोटा में इसरो के दो लांच पैड है। इसके कुछ ही दूरी पर इसरो ने स्टेडियम बनाया है जहां से लॉन्चिंग को सीधे देखा जा सकता है। जुलाई 9-16 के बीच जब चंद्रयान की लॉन्चिंग होगी तब इस स्टेडियम को पूरी क्षमता से संचालित किया जाएगा। जून अंत में इसरो इसके लिए लोगों से ऑनलाइन आवेदन मांगेगा। जिसकी प्रक्रिया पूरी करने के बाद उन्हें ऑनलाइन प्रवेश पत्र डाउनलोड करने का मौका मिलेगा। यह प्रक्रिया निशुल्क होगी।

कुमार ने कहा कि इसका मकसद इसरो के कार्यक्रमों में आम लोगों की दिलस्पी बढ़ाना है। हम चाहते हैं कि लोग इससे से जुड़ें। खासकर नई पीढ़ी, छात्र-छात्राएं अंतरिक्ष कार्यक्रम में दिलचस्पी लें। ताकि भविष्य में वह इसे अपना करियर भी बनाया। बता दें कि नासा भी राकेट राकेट लांच कार्यक्रमों में लोगों को देखने का मौका देता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:10 thousand people will be able to sit and watch Chandrayaan-2 launching in Sriharikota