DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्या आज पाकिस्तान जेल से रिहा होगा कुलभूषण जाधव? ICJ का फैसला आज, जानें इस केस की 10 बातें

kulbhushan jadhav  photo hindustan times

पाकिस्तान में जासूसी के आरोप में जेल में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में नीदरलैंड का हेग स्थित अंतरार्ष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) बुधवार (17 जुलाई) को फैसला सुनाएगा। इस मौके के लिए पाकिस्तान के कानूनी विशेषज्ञों की एक टीम हेग पहुंच चुकी है। पाकिस्तान मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, रेडियो पाकिस्तान ने बताया है कि पाकिस्तान की कानूनी टीम का नेतृत्व देश के महान्यायवादी मंसूर खान कर रहे हैं। टीम के साथ पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल भी हेग पहुंच चुके हैं।

भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले की 10 अहम बातें

1. पाकिस्तान का आरोप है कि जाधव एक भारतीय जासूस हैं जिन्होंने पाकिस्तान के बलूचिस्तान में आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिया था।

2. पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 में बंद कमरे में सुनवाई के बाद ''जासूसी और आतंकवाद के आरोपों में भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी जाधव (49) को मौत की सजा सुनाई थी। हालांकि जाधव ने पाकिस्तानी राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दायर की हुई है।

3. भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में और तल्खी घोलने वाले इस मामले में भारत ने पाकिस्तान के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि जाधव बेकसूर हैं।

4. भारत ने मामले को हेग स्थित अंतरार्ष्ट्रीय न्यायालय में उठाया। इससे पहले हुई सुनवाई में आईसीजे ने पाकिस्तान को जाधव को दी गई फांसी की सजा पर अमल करने से रोक दिया था।

5. पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, देश के कानूनी विशेषज्ञों का मानना है कि आईसीजे कुलभूषण जाधव को रिहा करने के भारतीय अनुरोध को ठुकरा देगा, लेकिन यह हो सकता है कि उन्हें दी गई सजा को रद्द कर दिया जाए और जाधव को राजनयिक पहुंच प्रदान करने का आदेश अदालत द्वारा सुनाया जाए। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगर राजनयिक पहुंच प्रदान करने का आदेश दिया जाता है तो ऐसा पहली बार होगा कि 'एक जासूस' को राजनयिक पहुंच प्रदान की जाएगी।

6. भारत लगातार जाधव को राजनयिक पहुंच प्रदान करने की मांग करता रहा है। लेकिन, पाकिस्तान यह कहकर इससे इनकार करता रहा है कि जासूसों के मामले में राजनयिक पहुंच नहीं दी जाती है।

7. नीदरलैंड में द हेग के 'पीस पैलेस' में बुधवार को भारतीय समयानुसार शाम साढ़े छह बजे सार्वजनिक सुनवाई होगी जिसमें अदालत के प्रमुख न्यायाधीश अब्दुलकावी अहमद यूसुफ फैसला पढ़कर सुनाएंगे।

8. इस चर्चित मामले में फैसला आने से करीब पांच महीने पहले न्यायाधीश यूसुफ की अध्यक्षता वाली आईसीजे की 15 सदस्यीय पीठ ने भारत और पाकिस्तान की मौखिक दलीलें सुनने के बाद 21 फरवरी को अपना फैसला सुरक्षित रखा था। इस मामले की कार्यवाही पूरी होने में दो साल और दो महीने का वक्त लगा।

9. भारत ने नयी दिल्ली को जाधव तक राजनयिक पहुंच देने से बार बार इंकार करके पाकिस्तान द्वारा वियना संधि के प्रावधानों का ''खुलेआम उल्लंघन के लिए आठ मई 2017 को आईसीजे का दरवाजा खटखटाया था। आईसीजे की दस सदस्यीय पीठ ने 18 मई 2017 को पाकिस्तान को जाधव की मौत की सजा पर अमल से रोक दिया था। 

10. आईसीजे में सुनवाई के दौरान, भारत और पाकिस्तान दोनों ने अपना अपना पक्ष रखा था और जवाब दिये थे। इस मामले में भारत का पक्ष रखने वाले हरीश साल्वे ने पाकिस्तान की कुख्यात सैन्य अदालतों के कामकाज पर सवाल उठाए थे और ''दबाव वाले कबूलनामे पर आधारित जाधव की मौत की सजा निरस्त करने का संयुक्त राष्ट्र की इस अदालत से अनुरोध किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:10 Key Points Kulbhushan Jadhav case ICJ to deliver verdict Today