DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सली आतंक : 2009 से अब तक इन 10 बड़े हमलों में 200 जवान शहीद

coalition  candidate  office

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली पुलिस के एक नक्सल विरोधी दस्ते C-60 के 16 जवान बुधवार को एक बारूदी सुरंग विस्फोट में शहीद हो गए हैं। बताया जा रहा है यह आईईडी ब्लास्ट गढ़चिरौली जिले के दादापुर रोड पर हुआ है। महाराष्ट्र के मंत्री सुधीर मुंगतीवार ने कहा कि गढचिरौली में हुए नक्सली हमले में 15 जवान और एक ड्राइवर की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि विस्फोट आज दोपहर हुआ जब जवान क्षेत्र में एक ऑपरेशन पर निकले थे। सुरक्षा बलों के दो वाहन जब नागपुर से लगभग 250 किलोमीटर दूर स्थित कोच्चि की ओर दादापुर रोड से गुजर रहे थे, तो नक्सलियों ने आईईडी विस्फोट कर दिया।

2009 से अब तक हुए आठ बड़े नक्सली हमलों में कम से कम 200 जवान शहीद हो चुके हैं। जानें 2009 से लेकर अब तक हुए बड़े नक्सली हमलों में के बारे में-

28 अप्रैल 2019
छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में नक्सलियों ने पुलिस जवानों पर हमला किया। हमले में दो पुलिस जवान शहीद हो गए तथा एक ग्रामीण गंभीर रूप से घायल हो गया है।

19 मार्च 2019
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में सोमवार को हुए नक्सली हमले में उन्नाव के रहने वाले सीआरपीएफ जवान शशिकांत तिवारी शहीद हो गए। घात लगाकर हुए इस हमले में पांच अन्य लोग घायल भी हो गए।

24 अप्रैल 2017
छत्तीसगढ़ के सुकमा में लंच करने को बैठे जवानों पर घातक हमला हुआ जिसमें 25 से ज्यादा जवान शहीद हो गए। पूरी खबर के लिए क्लिक करें

1 मार्च 2017
सुकमा जिले में अवरुद्ध सड़कों को खाली करने के काम में जुटे सीआरपीएफ के जवानों पर घात लगाकर हमला कर दिया। इस हमले में 11 जवान शहीद हो गए और 3 से ज्यादा घायल हो गए।  

11 मार्च 2014
झीरम घाटी के पास ही एक इलाके में नक्सलियों ने एक और हमला किया। इसमें 15 जवान शहीद हुए थे और एक ग्रामीण की भी इसमें मौत हो गई थी।

12 अप्रैल 2014
बीजापुर और दरभा घाटी में आईईडी ब्लास्ट में पांच जवानों समेत 14 लोगों की मौत हो गई थी। मरने वालों में सात मतदान कर्मी भी थे। हमले में सीआरपीएफ के पांच जवानों समेत एंबुलेंस चालक और कंपाउंडर की भी मौत हो गई थी।

दिसंबर 2014
सुकमा जिले के चिंतागुफा इलाके में एंटी-नक्सल ऑपरेशन चला रहे सीआरपीएफ के जवानों पर नक्सलियों ने हमला कर दिया दिया था। नक्सलियों के इस हमले में 14 शहीद हो गए थे जबकि 12 लोग घायल हो गए थे।

25 मई 2013
झीरम घाटी हमला : नक्सलियों ने कांग्रेस नेताओं के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें कांग्रेस के 30 नेता व कार्यकर्ता मारे गए थे। नक्सलियों ने सबसे पहले सड़क पर ब्लास्ट किया और फिर काफिले पर अंधाधुंध फायरिंग कर दर्जनों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। हमले में पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल समेत 30 से ज्यादा कांग्रेसी मारे गए थे जिनमें महेंद्र कर्मा भी थे।

6 अप्रैल 2010
दंतेवाड़ा हमला : दंतेवाड़ा जिले के ताड़मेटला में यह हमला सुरक्षाकर्मियों पर हुआ यह हमला देश का सबसे बड़ा नक्सली हमला है। इसमें सीआरपीएफ के 76 जवान शहीद हो गए थे। सीआरपीएफ के करीब 120 जवान तलाशी अभियान चला रहे थे तभी उन पर घात लगाकर करीब 1000 नक्सलियों हमला कर दिया था। इस हमले में 76 जवान शहीद हो गए थे। जवाबी कार्रवाई में आठ नक्सली भी मारे गए थे।

12 जुलाई 2009
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में घात लगाकर किए गए हमले में पुलिस अधीक्षक वीके चौबे सहित 29 जवान शहीद हुए।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:10 biggest Maoist attacks from 2009 to 2019