DA Image

अगली स्टोरी

काजोल, अभिनेत्री

16 साल की उम्र में फिल्म 'बेखुदी' से बॉलीवुड डेब्यू करने वालीं काजोल दिवंगत निर्माता-निर्देशक सोमू मुखर्जी और वेटरन एक्ट्रेस तनुजा की बेटी हैं। उसके बाद 1993 में काजोल अब्बास मस्तान की फिल्म 'बाजीगर' में नज़र आईं। ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई। इस फिल्म के बाद काजोल के लाखों फैन्स हो गए। सिर्फ इतना ही नहीं इसी फिल्म से काजोल-शाहरुख की जोड़ी सबको भा गई लगी। साल 1995 में काजोल की दो फ़िल्में 'करण-अर्जुन' और 'दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे' बैक टू बैक हिट हुई।  फिल्म 'दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे' के लिए काजोल को बेस्ट एक्ट्रेस फिल्म फेयर अवार्ड से सम्मानित किया गया। 

काजोल ने अपने बॉलीवुड करियर में कई बेहतरीन फ़िल्में की जिसमें 'गुप्त' भी शामिल है। इस फिल्म में काजोल ने नेगेटिव किरदार निभाया था और दिलचस्प बात तो ये है कि काजोल का नेगेटिव किरदार भी सबको पसंद आया। इतना ही नहीं इस फिल्म के फिल्म फेयर अवार्ड बेस्ट इन नेगेटिव रोल से भी सम्मनित किया गया था।

सामाजिक कामों से भी जुड़ी हैं काजोल

6 फिल्मफेअर अवॉर्ड्स के साथ काजोल को पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया है। फिल्मों के साथ-साथ काजोल सामाजिक कामों से जुड़ी हुई हैं। वह एक एनजीओ 'शिक्षा' की सदस्य हैं जो बच्चों की शिक्षा पर काम करता है। इसके अलावा वह लुंबा ट्रस्ट की इंटरनेशनल गुडविल एंबेसेडर हैं। यह ट्रस्ट विधवाओं और उनके बच्चों की सहायता करता है। काजोल प्रथम (एक समाजसेवी संस्था जो बच्चों के लिए काम करती है), की भी ब्रांड एम्बेसेडर हैं। 

काजोल आज कल अपनी फिल्म हेलीकॉप्टर ईला के प्रमोशन में बिजी हैं। इस फिल्म में वो एक मां का किरदार निभा रही हैं। फिल्म 7 सितंबर को रिलीज होगी।

  • 1
  • of
  • 174615

माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

  • 1
  • of
  • 174615

माफ़ कीजिए आप जो खबर ढूंढ रहे हैं , वह उपलब्ध नहीं है

  • 1
  • of
  • 174615

जब पप्पू की रोटी के ऊपर से गुजरा चूहा

पप्पू डिनर करने बैठा, तभी उसकी रोटी के ऊपर से चूहा गुजर गया..

फेकू: मुझे नहीं खानी चूहे के पैर से रौंदी हुई यह रोटी..

पप्पू: खाले यार... कौन सा चूहे ने चप्पले पहन रखीं थीं..