अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इनकी कॉमिक टाइमिग का जवाब नहीं, तस्वीरें देख कर लोटपोट न हुए तो कहना!

मस्ती के बादशाह
मस्ती के बादशाह

तुमने बच्चों और बड़ों को फनी फेस बनाते या कुछ मजेदार एक्टिविटी करते देखा होगा, खुद भी शरारतों में मशगूल रहते होगे। लेकिन जरा सोचो, अगर जानवर भी तुम्हारी तरह कुछ मजेदार करतब करते नजर आएं, तो कैसा रहे? शायद तुम्हें ये जानकर हैरानी होगी, लेकिन जानवर भी तुम्हारी तरह मस्ती का कोई मौका छोड़ना नहीं चाहते। इसीलिए तो ये बीते साल के कॉमेडी वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी अवॉर्ड्स में छाए रहे। इन अवॉर्ड्स की शुरुआत युनाइटेड किंग्डम के रहने वाले वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर टॉम सुलम और पॉल जॉयनसन हिक्स ने की, ताकि एनिमल्स को बचाने के लिए लोग जागरूक हों। दरअसल इस प्रयास के जरिए वे हल्के-फुल्के तरीके से खासतौर पर वाइल्ड लाइफ में हो रही मजेदार चीजों के जरिए लोगों का ध्यान इस ओर आकर्षित कराना चाहते थे। कम्पटीशन डायरेक्टर सुलम ने बताया,  ‘इस प्रतियोगिता में ऐसी ही फोटो को चुने जाने की हिदायत दी गई थी, जो प्राकृतिक माहौल में और बिना किसी इंसानी आवाजाही के खींची गई हों। दरअसल यह फेस्टिवल एक तरह से उन जानवरों के लिए जश्न मनाने जैसा था, जो हमारे साथ इस ग्रह पर रहते हैं।’
दिलचस्प बात यह रही कि इसमें पुरस्कार कई कैटेगरी में दिए गए। एक थी अंडरवॉटर कैटेगरी, जिसके तहत पानी के भीतर खींचे गए समुद्री जीवन पर फोटो क्लिक करनी थीं। एक कैटेगरी जमीन और हवा में उड़ने वाले पशु-पक्षियों की थी। वहीं एक में सभी कैटेगरी को मिलाकर विजेता चुनना था। इस साल कॉमेडी वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी अवॉर्ड्स के तीसरे एडिशन में 80 देशों से 3500 से ज्यादा लोगों ने अपनी तस्वीरें भेजीं। 
क्या तुम देखना चाहोगे पशु-पक्षियों के ऐसे ही कुछ मजेदार पलों को? तो आओ अगली स्लाइड्स में तुम्हें दिखाएं जानवरों के कुछ ऐसे मजेदार कारनामे कि तुम भी खुशी से झूम उठो...

अपनी तो निकल पड़ी भाई!
अपनी तो निकल पड़ी भाई!

अक्सर क्लास में तुम पेपर बॉल बनाकर अपने साथी के सिर पर मार देते हो और फिर ऐसे अनजान बनते हो, जैसे कि तुमने कुछ किया ही न हो। और तुम्हारा साथी जब हैरानी से इधर-उधर देखता है तो तुम अचानक हंस पड़ते हो। इस लंगूर को देखकर तुम्हारे मन में कुछ ऐसे ही खयाल आ रहे होंगे। वैसे इस तस्वीर को देखकर तुम शायद यह भी सोच रहे होगे कि पीछे बैठा लंगूर किस शरारत पर हंस रहा है। दरअसल ये आदि-बंदर अपने समूह से अलग होकर जंगल से बाहर आ गए और रिजर्व के प्रवेश द्वार के पास खड़ी मोटरबाइक पर अपने हाथ आजमाने लगे। तो इस नई प्रतिभा को जानने की खुशी भी खूब हुई होगी। सेलेबेज क्रेस्टेड मकेकेज दुर्लभ प्रजाति के आदि-बंदर हैं, जो इंडोनीशिया के सुलावेसी क्षेत्र में पाए जाते हैं। यह तस्वीर ‘मंकी एस्केप’ के नाम से प्रकाशित हुई।
 

अरे दोस्तो, जरा मुझे भी सहारा देना, कहीं झूलते-झूलते नीचे न टपक जाऊं 
अरे दोस्तो, जरा मुझे भी सहारा देना, कहीं झूलते-झूलते नीचे न टपक जाऊं 

दोस्तों के साथ मौजमस्ती में कई बार तुम भी इसी तरह गिरे या फिसले होगे। ‘हेल्प’ शीर्षक के साथ आई हंगरी के उल्लुओं की यह पुरस्कृत तस्वीर।
 

चलो दोस्तो, प्रार्थना का वक्त हो गया है
चलो दोस्तो, प्रार्थना का वक्त हो गया है

चर्च की तरफ बढ़ते पेंग्विन्स की यह पुरस्कृत तस्वीर दक्षिण जॉर्जिया की है। इन्हें चर्च के सामने देखकर ऐसा लगता है कि ये भी भगवान के सामने अपनी शरारतों का पिटारा खोलने वाले हैं।
 

शरारत करोगे तो ऐसे ही चपत खाओगे, समझे नेपोलियन!
शरारत करोगे तो ऐसे ही चपत खाओगे, समझे नेपोलियन!

कछुए को तुमने कहानी में खरगोश से हारते ही देखा है, लेकिन यहां कछुआ अपनी स्मार्टनेस दिखा रहा है। ‘ग्रेट बेरियर रीफ’ में नेपोलियन माओरी रेस को चपत लगाते ग्रीन टर्टल की यह पुरस्कृत तस्वीर ‘स्लेप’ शीर्षक के साथ प्रकाशित हुई।
 

हंसोड़ बेजोड़
हंसोड़ बेजोड़

ठहाके तो तुमने खूब मारे होंगे, लेकिन जब एक चूहा दांत फाड़कर हंसे, तो तुम भी शरमा जाओगे। इटली के फोटोग्राफर एंड्रिया जेम्पेटी और मोंटिसेली ब्रुसेटी ने इस तस्वीर को नाम दिया - ‘द लाफिंग डॉरमाउस’। उन्होंने इस तस्वीरे के पीछे की दिलचस्प कहानी बताई कुछ यूं सुनाई, ‘हम अपने शहर के करीब के एक पहाड़ पर चढ़ रहे थे, तभी मैंने लकड़ियों के बीच एक अजीब सी आवाज सुनी। और उसके बाद नजरें घुमाईं तो यह क्यूट सा बेबी डॉरमाउस येरो फूलों के ऊपर बैठा हुआ था। मैंने फौरन यह तस्वीर अपने कैमरे में कैद कर ली, लेकिन यह अद्भुत नजारा देखकर मैं हैरान था। 

पंगा ना ले
पंगा ना ले

ये खुले मुंह देखकर आपको ‘मकड़ी’ फिल्म का टाऊं-टाऊं गाना जरूर याद आ रहा होगा। ‘मडस्किर्प्स गॉट टेलेंट’ शीर्षक के नाम से यह दुर्लभ तस्वीर क्रेबी, थाइलैंड की है। इसमें मडस्किर्प्स अपनी जमीन को लेकर एक दूसरे से लड़ रहे हैं, लेकिन उनके खुले मुंह देखने में ऐसे लग रहे हैं जैसे वे वीर योद्धाओं वाला कोई गीत गुनगुना रहे हैं। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:What a coming timing