DA Image
16 मार्च, 2020|1:10|IST

अगली स्टोरी

हर फूल हमसे कुछ कहता है

पौधे अपनी दुनिया में बहुत खुश रहते हैं, लेकिन वे हमें भी बहुत खुशी देते हैं। फूल-पौधों से हमारा रिश्ता बहुत अनूठा है। हम उनकी देखभाल करते हैं और वे भी हमें इमोशनल सपोर्ट देते हैं, हमारे शरीर को जरूरी पोषक तत्व देते हैं और हमारे उपचार में भी मदद करते हैं। फूल हमारे धार्मिक विश्वास से भी जुड़े हैं। यही वजह है कि हम पूजा में फूल, पत्ते आदि चढ़ाते हैं।

आदमी बहुत पुराने जमाने से फूल-पौधों से संवाद करता आ रहा है। प्रकृति के साथ हमारे रिश्ते फायदेमंद हो सकते हैं, अगर हम पौधों की बात समझने की कोशिश करें तो। फूल और पौधे अपने गुणों को, विशेषताओं को अपने रूप, काम और व्यवहार के माध्यम से बताते हैं। जिस तरह से वे परागणकों (पॉलीनेटर) को विकसित और आकर्षित करते हैं, जैसे वे दिखते हैं, जो उनका गंध, स्वाद, स्पर्श होता है, अगर उसको ऑब्जर्व किया जाए, तो उनकी भाषा को समझा जा सकता है।

फूल-पौधे देते हैं तकलीफ से राहत

हर्बल प्रोडक्ट यानी जड़ी-बूटियों, फूलों, पत्तियों से बनी चीजों से किसी चीज के इलाज के बारे में तो तुमने सुना ही होगा, लेकिन क्या पता है कि सिर्फ फूलों के बीच मौजूद होने से भी फायदा होता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि फूल और पौधे किसी व्यक्ति की एनर्जी या स्पेस में बदलाव कर देते हैं, इसकी वजह से उस व्यक्ति को बहुत आराम मिलता है।

किसी को बस ताजे फूल देने या किसी ऐसी जगह ले जाने से आराम मिलता है, जहां जाने पर उसके इमोशन में बदलाव आ जाता है। तुमने भी नोट किया होगा कि फूलों के बगीचे में जाते ही मन खुश हो जाता है। अगर तुम थके हो, तो थकान दूर हो जाती है। वास्तव में फूल हमारी उम्मीदों और इमोशन को भी प्रकट करते हैं। इसीलिए खुशी के मौकों पर फूलों की सजावट की जाती है। शुभ अवसरों पर भी फूलों की रंगोली बनाई जाती है।