DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आओ ले चलें तुम्हें बतखों की रंग-रंगीली दुनिया में

ducks world

अपने कार्टून कैरेक्टर डोनाल्ड और डफ्फी बत्तख के बारे में तुम बहुत कुछ जानते होगे। पर क्या कभी असल में तुम्हारा सामना बतखों से हुआ है? नदी या तालाब में कभी तैरते हुए उन्हें देखा है? शायद ही तुम्हें पता हो कि सफेद के अलावा और भी कई रंगों में बतख पाई जाती हैं। तो चलो ले चलते तुम्हें बतखों की रंग-बिरंगी दुनिया में

तालाब या झील में सफेद रंग के पक्षी को अगर तैरते हुए देखा होगा तो तुम्हें उसका नाम भी मालूम होगा। गोल-मटोल, धीरे-धीरे ठुमक-ठुमक कर चलने वाला यह पक्षी कोई और नहीं, बल्कि बतख है, जिसे तुम अंग्रेजी में ‘डक’ कहते हो। जब ये पानी में एक झुंड में तैरती हैं तो ऐसा लगता है कि मानो कोई नाव चल रही हो।

दुनियाभर में बतखों की लगभग 40 प्रजातियां अब तक खोजी जा चुकी हैं। इनके रंग अलग तो हैं ही, इनका रहन-सहन भी भिन्न है। इनमें से कुछ प्रजातियां ऐसी भी हैं, जो अंटार्कटिका जैसे बर्फीले इलाकों में रहती हैं। बतख की प्रजातियों में से एक है स्ट्रीमर डक, जो उड़ नहीं सकती, वहीं पेकिने नामक प्रजाति का बड़ी संख्या में फर्मों में पालन किया जाता है। 

जलीय जीवों और पौधों के लिए फायदेमंद
वैज्ञानिक दृष्टि से देखें तो झील या तालाब में बतखों की चहलकदमी फायदेमंद भी है। हो गए न हैरान! विशेषज्ञों की मानें तो झील में होने वाली उथल-पुथल पानी में ऑक्सीजन बढ़ाने में सहायक होती है। और बतखें तैरते हुए यही काम करती हैं। कृषि अनुसंधान केंद्र के एक शोध की मानें तो बतख जब पानी में तैरती है तो उससे पानी में फॉस्फेट और बाकी पोषक तत्व बनते हैं। फॉस्फेट, जहां पानी में हरे शैवालों की संख्या बढ़ाने में मददगार है, तो दूसरी तरफ हरे शैवाल सूरज की किरणों से क्रिया कर ऑक्सीजन बनाते हैं। अब तो समझ ही गए होगे कि बतख हमारे लिए कैसे फायदेमंद हैं। 

duck

पंख रहते हैं हमेशा साफ
खुद को कैसे साफ-सुथरा रखना है, यह बात बतखें भलीभांति जानती हैं। बतख की चोंच प्राय: चौड़ी होती है और इसमें दांतेदार किनारे होते हैं। दांतेदार किनारों की मदद से ये अपने पंखों को संवारती रहती हैं, जैसे तुम कंघी से बाल संवारते हो। इसलिए इनके पंख हमेशा साफ-सुथरे और अच्छे बने रहते हैं। इनके पंख भले ही छोटे और नुकीले हों, मगर होते मजबूत हैं। 

पानी में कैसे तैर लेती हैं
बतख के पैरों को कभी गौर से देखना। इनके पांव की उंगलियां एक झिल्ली की मदद से एक-दूसरे से जुड़ी हुई होती हैं, जिसे पादजाल कहा जाता है। तैरते समय यही पैर पतवार की तरह काम करते हैं। यही नहीं, इनके पंख वाटरप्रूफ होते हैं। दरअसल इनकी पूंछ के पास एक विशेष प्रकार की ग्रंथि होती है, जिससे एक तैलीय द्रव स्रावित होता रहता है। इनके पंखों पर इस तैलीय पदार्थ की एक पतली परत बन जाती है, इस वजह से इनके पंख पानी में गीले नहीं होते। ठंडे पानी में बतख कई घंटे तक तैरती रहती हैं तो क्या इनके पैर ठंड से जमते नहीं हैं। तो जवाब है नहीं। बतख के पैरों में नसें या रक्त वाहिकाएं नहीं होती हैं, इसलिए इन्हें ठंड का अनुभव नहीं होता, चाहे ये बर्फ जैसे ठंडे पानी में तैर रही हों या साधारण पानी में। 

खाती क्या हैं
बतख की कुछ प्रजातियों का ज्यादातर समय पानी में बीतता है। जाहिर है इनका भोजन भी जलीय जीव या पौधे ही होते होंगे। मतलब, इनका आहार है जलीय पौधों के अलावा छोटे-छोटे कीड़े-मकोड़े। ये भिगोया व उबला हुआ भोजन जैसे गेहूं और चावल भी खाती हैं। समुद्र में पाई जाने वाली बतखें गहरे पानी में डुबकी लगाकर अपना भोजन तलाश लेती हैं। 

mallard duck

मालार्ड
इस प्रजाति की बतखें ज्यादातर नदियों, तालाबों और झीलों में दिखती हैं। ये बतखें अन्य प्रजातियों की बतखों के साथ भी आसानी से खुल-मिल जाती हैं। नर बतख ज्यादा कलरफुल होते हैं। नीले हरे रंग का सिर और घुंघराली पूंछ इनकी खास पहचान है। जबकि मादाएं भूरे रंग की होती हैं।

रिंग नेक्ड डक
तस्वीर देखकर तुम समझ ही गए होगे कि इन्हें रिंग नेक्ड डक क्यों कहा गया है। दरअसल, गर्दन पर ब्राउन रंग का रिंग बना होता है। हालांकि इसे देखना मुश्किल होता है। इसके अलावा चोंच के पास और शीर्ष पर भी ग्रे रंग का रिंग बना होता है। नर और मादा दोनों का सिर चोटीदार होता है, लेकिन नर बतख के पंख ज्यादा चमकदार होते हैं। ये बहुत ही शानदार गोताखोर होते हैं, जो 40 फीट अंदर जाकर जलीय पौधों को खा सकते हैं। 

mandarin duck

मंडरीन डक 
रंगबिरंगी दिखने वाली ये बतखें देखने में वुड डक की तरह ही लगती हैं, मगर इनके सिर और गर्दन के पास लंबे बाल होते हैं, जो झालर की तरह दिखते हैं। एशिया, रूस और जापान में ये ज्यादातर पाई जाती हैं। इसके अलावा यूके में भी इनकी अच्छी खासी संख्या है। चीनी लोग सुखी जीवन के प्रतीक के रूप में इन्हें अपने घर में रखते हैं। 

रुडी बतख
अन्य बतखों में ये सबसे सुस्त बतखें होती हैं। ये शिकारियों से बचने और भोजन की तलाश में ही पानी के अंदर जाती हैं। नीली चोंच वाली इस बतख की पहचान है कठोर पूंछ, जो अकसर सीधी होती है। नर बतख नीली चोंच और गहरे ब्राउन रंग के होते हैं, जबकि मादाएं रेत के रंग की होती हैं।

वुड डक  
मीठे जल में रहने वाली वुड डक के रंग-बिरंगे पंखों को देख ऐसा लगता है, मानो किसी कलाकार ने सारे रंग इसके ऊपर उड़ेल दिए हों। नर बतख पर सफेद रंग के स्पॉट होते हैं, जिनकी आंखें वाइबे्रंट लाल होती हैं, जबकि मादा बतख की आंखें सफेद और शरीर भूरे रंग का होता है। नर व मादा दोनों के सिर पर पंखों का घुमावदार और चमकदार गुच्छा होता है, जो पीछे की तरफ मुड़ा होता है। ये बतखें थोड़ी गुस्सैल प्रवृत्ति की होती हैं। उत्तर-पश्चिम मैक्सिको समेत ये उत्तर अमेरिका में भी पाई जाती हैं। 

नॉर्दर्न पिनटेल
जहां ज्यादातर अन्य बतखें छोटी गुच्छेदार पूंछ वाली होती हैं, वहीं नॉर्दर्न पिनटेल की पूंछ लंबी और पतली होती है, जो ऊपर की तरफ उठी होती है। उत्तर अमेरिका में पाई जाने वाली इस बतख का मुख्य भोजन जलीय पौधे, मछलियां और अन्य जलीय जीव होते हैं। ये जमीन और पानी में रहने के साथ उड़ भी सकती हैं। 

बतख की दिलचस्प बातें

  • बतख, सारस और हंस, ये सभी एक ही परिवार ‘एनाटिडी’ के सदस्य हैं। 
  • नर बतख को अंग्रेजी में ‘ड्रेक’ और मादा बतख को ‘डक’ कहते हैं।
  • यह सर्वाहारी जीवों की श्रेणी में आने वाला पक्षी है, जो पेड़-पौधे, फल आदि के साथ-साथ छोटे-मोटे कीड़े-मकोड़े और मछलियां भी खाता है। 
  • सबसे खास बात यह कि ऊंट की तरह ही बतखों की भी तीन पलकें होती हैं। 
  • इनका जीवनकाल लगभग 10 वर्षों का होता है।
  • बतख झील, तालाब और समुद्र के पानी में आराम से रह सकती हैं। समुद्र में रहकर ये एक दिन में कई मीलों का सफर तय कर लेती हैं।
  • डाइविंग बतख अच्छी गोताखोर होती है। यह गहरे पानी में भोजन के लिए चली जाती है।
  • डैबलिंग प्रजाति की बतखें तैरती तो पानी में हैं, मगर जमीन पर ही अपना भोजन तलाश करती हैं। इस प्रजाति की बतखें लगभग पूरी दुनिया में मिलती हैं। 
  • विश्व प्रसिद्ध कार्टून कैरेक्टर डोनाल्ड डक बतख ही है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:know about the colorful world of ducks