फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ महाराष्ट्रदबाव में कितना झुकेंगे उद्धव ठाकरे और क्या करेंगे एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र में पैदा हो सकते हैं ये 5 हालात

दबाव में कितना झुकेंगे उद्धव ठाकरे और क्या करेंगे एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र में पैदा हो सकते हैं ये 5 हालात

पहली स्थिति तो यही बन सकती है कि बहुमत न देखते हुए उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री के पद से ही इस्तीफा दे दें और नई सरकार को मौका दें। इसके अलावा एक संघर्ष कानूनी तौर पर भी देखने को मिल सकता है।

दबाव में कितना झुकेंगे उद्धव ठाकरे और क्या करेंगे एकनाथ शिंदे, महाराष्ट्र में पैदा हो सकते हैं ये 5 हालात
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईThu, 23 Jun 2022 04:40 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

एकनाथ शिंदे की बगावत को लेकर महाराष्ट्र में लगातार हलचल तेज है। एक तरफ शिवसेना ने पूरी तरह से शिंदे के आगे सरेंडर कर दिया है तो वहीं दूसरी तरफ बागी विधायक लगातार दबाव बनाए हुए हैं। उद्धव ठाकरे ने तो इमोशनल कार्ड खेलते हुए सीएम आवास ही खाली कर दिया है और संजय राउत ने यहां तक कह दिया है कि यदि बागी विधायक चाहते हैं कि हम गठबंधन को छोड़ दें तो ऐसा भी कर लेंगे। इसके बाद भी अभी कोई तस्वीर साफ नहीं है। एकनाथ शिंदे के अगले कदम को लेकर लगातार कयास लगाए जा रहे हैं। आइए जानते हैं, एकनाथ शिंदे या शिवसेना की ओर से क्या हो सकता है अगला कदम...

शिंदे 'सेना' से राउत की अपील- आकर बात करो, हम अघाड़ी को भी छोड़ देंगे

1. एकनाथ शिंदे को बागी विधायकों क ओर से अपना नेता चुना जा सकता है। उनकी ओर से यह दावा किया जा सकता है कि वे ही असली शिवसेना हैं। दो-तिहाई से ज्यादा विधायकों के साथ होने पर ही ऐसा हो सकता है।

2. दो-तिहाई विधायकों का समर्थन मिलने पर एकनाथ शिंदे कैंप विधानसभा के डिप्टी स्पीकर से अपने खेमे को ही शिवसेना के तौर पर मांग कर सकता है। अगला रास्ता इसके बाद ही खुलता है।

3. एकनाथ शिंदे कैंप की ओर से राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से वक्त मांगा जा सकता है और भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाने का दावा ठोका जा सकता है। 

4. उद्धव ठाकरे अपने विधायकों की मीटिंग बुलाकर इस्तीफा दे सकते हैं। इसके अलावा उनके पास विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव का सामना करने का भी विकल्प है। 

5. गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी अस्पताल में एडमिट हैं। ऐसे में उन्हें पत्र लिखकर भी एकनाथ शिंदे कैंप बात कर सकता है। 

महाराष्ट्र संकट पर उमा भारती बोलीं- हनुमान चालीसा पाठ ने जलाई 'लंका'

अगले कुछ दिनों में महाराष्ट्र में कैसे हो सकते हैं हालात

पहली स्थिति तो यही बन सकती है कि बहुमत न देखते हुए उद्धव ठाकरे सीएम के पद से ही इस्तीफा दे दें और नई सरकार को मौका दें। इसके अलावा एक संघर्ष कानूनी तौर पर भी देखने को मिल सकता है, जिसमें शिवसेना बागी विधायकों की सदस्यता पर ही सवाल खड़ा करे और कोर्ट का दरवाजा खटखटाए। वहीं भाजपा की ओर से एकनाथ शिंदे से दोस्ती की जा सकती है ताकि सरकार बनाने का दावा किया जा सके। कहा जा रहा है कि इस रविवार तक महाराष्ट्र में कुछ बड़ा डिवेलपमेंट देखने को मिल सकता है। हालांकि अभी दोनों पक्षों की ओर से जोर-आजमाइश ही चल रही है।

epaper