फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ महाराष्ट्रसुप्रीम कोर्ट ने BJP विधायक नितेश राणे को गिरफ्तारी से दी राहत, कहा- पहले आत्मसमर्पण, फिर याचिका दायर करें

सुप्रीम कोर्ट ने BJP विधायक नितेश राणे को गिरफ्तारी से दी राहत, कहा- पहले आत्मसमर्पण, फिर याचिका दायर करें

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र पुलिस को हत्या की कोशिश के मामले में 10 दिन तक भारतीय जनता पार्टी के विधायक नितेश राणे को गिरफ्तार ना करने का निर्देश दिया।कोर्ट ने केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे के...

सुप्रीम कोर्ट ने BJP विधायक नितेश राणे को गिरफ्तारी से दी राहत, कहा- पहले आत्मसमर्पण, फिर याचिका दायर करें
Dheeraj Palलाइव हिंदुस्तान,मुंबईThu, 27 Jan 2022 02:39 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र पुलिस को हत्या की कोशिश के मामले में 10 दिन तक भारतीय जनता पार्टी के विधायक नितेश राणे को गिरफ्तार ना करने का निर्देश दिया।कोर्ट ने केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे के बेटे नितेश राणे की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करने से इनकार करते हुए उनसे कहा कि आत्मसमर्पण करें और फिर जमानत याचिका दायर करें।

प्रधान  न्यायाधीश एनवी रमण की अध्यक्षता वाली पीठ ने केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे के बेटे नितेश राणे की अग्रिम जमानत याचिका का निस्तारण करते हुए उन्हे दस दिन के भीतर निचली अदालत में समर्पर्ण करने का निर्देश दिया और इस मामले में नियमति जमानत के लिए याचिका दाखिल करें।

इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट ने हत्या के प्रयास के मामले में राणे को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया था। नितेश राणे सिंधुदुर्ग जिले की कंकावली सीट से विधायक हैं और केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बेटे हैं। नितेश ने संतोष परब (44) नामक एक व्यक्ति पर कथित हमले के मामले में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी। नितेश ने अपनी याचिका में दावा किया कि उन्हें इस मामले में झूठा फंसाया गया है और राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता के कारण उन्हें निशाना बनाया जा रहा है।

 

शिवसेना कार्यकर्ता की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी बताया

नितेश और दलवी ने उनके खिलाफ सिंधुदुर्ग पुलिस द्वारा दिसंबर 2021 में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 307 (हत्या का प्रयास), 120 (बी) (आपराधिक साजिश) और 34 (सामान्य इरादे) के तहत दर्ज मामले में अग्रिम जमानत मांगी थी। कंकावली विधायक राणे ने दावा किया था कि उन्हें राजनीतिक कारणों से झूठे मामले में फंसाया गया था जबकि पुलिस ने दावा किया कि नितेश शिवसेना कार्यकर्ता की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी और मुख्य साजिशकर्ता हैं।

 

epaper