फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ महाराष्ट्रउद्धव ठाकरे ने राज्यपाल कोश्यारी को बताया 'अमेजॉन पार्सल', बोले- इसे वृद्धाश्रम भेजे केंद्र

उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल कोश्यारी को बताया 'अमेजॉन पार्सल', बोले- इसे वृद्धाश्रम भेजे केंद्र

कोश्यारी ने पिछले हफ्ते औरंगाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज

उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल कोश्यारी को बताया 'अमेजॉन पार्सल', बोले- इसे वृद्धाश्रम भेजे केंद्र
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,मुंबईThu, 24 Nov 2022 06:06 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे ने छत्रपती शिवाजी महाराज को लेकर दिए गए कथित विवादित बयान पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने राज्यपाल को केंद्र द्वारा भेजा गया 'अमेजॉन पार्सल' करार दिया। राज्यपाल के हालिया बयान पर अपनी भड़ास निकालते हुए महाराष्ट्र के पूर्व सीएम ने कहा, "मैं केंद्र सरकार से अनुरोध करता हूं कि आपने जो राज्यपाल के रूप में हमें अमेजॉन पार्सल भेजा है उसे वापस ले लो।" शिवसेना नेता ने यह भी कहा कि उन्हें किसी वृद्धाश्रम भेजा जाना चाहिए। 

उद्धव ठाकरे ने ऑनलाइन संबोधन में कहा, "हम केंद्र से आग्रह करते हैं कि वह एक राज्यपाल के तौर पर भेजे गए नमूने को वापस बुलाएं और उसे अन्य स्थानों पर या वृद्धाश्रम भेज दें। हम सभी महाराष्ट्र प्रेमियों से उनके बयान का विरोध करने के लिए कहते हैं। अगर भाजपा इसमें (विरोध में) शामिल होना चाहती है उसका भी स्वागत करें।"

उद्धव ठाकरे ने इसी बहाने सीएम एकनाथ शिंदे पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, "छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान किया जा रहा है और सरकार खामोश बैठी है। मुझे समझ नहीं आ रहा है कि सीएम कौन है। लेकिन जो शख्स दिल्ली के सहारे सत्ता में है, वो उनके खिलाफ क्या ही कहेगा।"

बता दें कि कोश्यारी ने पिछले हफ्ते औरंगाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज "पुराने दिनों" के आदर्श थे। उनके इस बयान की राकांपा और उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना गुट ने आलोचना की है। उद्धव से पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने छत्रपति शिवाजी महाराज पर हालिया बयान को लेकर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की बृहस्पतिवार को आलोचना की और कहा कि उन्होंने 'सारी हदें पार कर दी हैं।' पूर्व केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि ‘‘ऐसे लोगों’’ को महत्वपूर्ण पद नहीं दिए जाने चाहिए।

पवार ने यहां संवाददाताओं से कहा, "जब मैंने छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे में उनकी टिप्पणी सुनी...अब उन्होंने सारी हदें पार कर दी हैं। उन्होंने कल शिवाजी महाराज की प्रशंसा की थी, लेकिन यह देर से समझ में आया।" उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को (कोश्यारी के बारे में) फैसला लेना चाहिए। ऐसे लोगों को महत्वपूर्ण पद नहीं दिए जाने चाहिए।"

epaper