DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   महाराष्ट्र  ›  महाराष्ट्र: शिवसेना सांसद राहुल रमेश ने डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर की वैक्सीन की खुराक बढ़ाने की मांग

महाराष्ट्रमहाराष्ट्र: शिवसेना सांसद राहुल रमेश ने डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर की वैक्सीन की खुराक बढ़ाने की मांग

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्ली Published By: Tej Singh
Thu, 08 Apr 2021 06:56 PM
महाराष्ट्र: शिवसेना सांसद राहुल रमेश ने डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर की वैक्सीन की खुराक बढ़ाने की मांग

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में अपनी दस्तक दे दी है। ऐसे में पूरे देश के अलग-अलग हिस्सों से लगातार कोरोना के बढ़ते मामले सामने आ रहा है। तमाम राज्यों से आ रहे कोरोना के आंकड़े काफी चिंताजनक हैं। इस बीच देश में कोरोना गढ़ बन चुके महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी एक नई समस्या बनकर सामने आ रही है। इस बीच शिवसेना सांसद राहुल रमेश शेवाले ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर महाराष्ट्र के लिए वैक्सीन की खुराक बढ़ाने के लिए संबंधित में अथॉरिटी को निर्देश देने का अनुरोध किया है।

आपको बता दें कि कोरोना वैक्सीन को लेकर केंद्र और महाराष्ट्र सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। इससे पहले महाराष्ट्र की ओर से वैक्सीन की कम सप्लाई किए जाने के आरोप का जवाब देते हुए केंद्र ने राज्य सरकार पर ही टीकों की बर्बादी का आरोप लगाया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, "महाराष्ट्र के पास 23 लाख डोज हैं, जिसका मतलब है कि उसे पास 5 दिन के लिए वैक्सीन का स्टॉक है। हर राज्य के पास ही 3 से 4 दिन का स्टॉक है। यह राज्य सरकार की जिम्मेदारी है कि वह अलग-अलग जिलों को सप्लाई करे। लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने इसकी बजाय 5 लाख डोज बर्बाद कर दीं।"

इससे पहले महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने केंद्र सरकार पर वैक्सीन की कम सप्लाई करने का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि केंद्र की ओर से गुजरात, यूपी और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों को ज्यादा सप्लाई दी जा रही है, जबकि वहां केस कम हैं। यही नहीं उन्होंने कहा था कि सरकार को दूसरे देशों की बजाय अपने राज्यों पर फोकस करना चाहिए। टोपे ने कहा था, "हमें हर सप्ताह कम से कम 40 लाख डोज की जरूरत है। दूसरे देशों को टीकों की सप्लाई करने की बजाय सरकार को राज्यों को देनी चाहिए। केंद्र सरकार की ओर से हमें मदद मिल रही है, लेकिन उतनी नहीं, जितनी हमें जरूरत है।"

इस बीच महाराष्ट्र के ही शहर मुंबई के कई वैक्सीन सेंटर्स से कोरोना वैक्सीन के आउट ऑफ स्टॉक होने की खबरें भी सामने आई हैं। बृहन्मुंबई नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि शहर में 25 टीकाकरण केंद्र गुरुवार को टीकाकरण के लिए बंद हो गए और शुक्रवार दोपहर तक पूरे शहर के टीकाकरण केंद्रों के बंद हो जाने की संभावना है। फिलहाल बंद हुए 25 केंद्रों में सरकारी और प्राइवेट दोनों ही टीकाकरण केंद्र शामिल हैं, जिन्हें वैक्सीन की कमी की वजह से बंद करना पड़ा है।   

हालांकि कोरोना वैक्सीन के आउट ऑफ स्टॉक हो जाने की खबरें सिर्फ महाराष्ट्र के मुंबई से ही नहीं बल्कि यूपी-बिहार के भी कई हिस्सों से आई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बुधवार रात ही वैक्सीन खत्म होने के कारण पहले डोज का टीकाकरण रोक दिया गया। गुरुवार को वाराणसी से सटे जौनपुर और चंदौली में वैक्सीन खत्म हो गई। मिर्जापुर और गाजीपुर में भी स्टाक करीब-करीब खत्म होने की कगार पर है। वहीं, बिहार के दरभंगा में वैक्सीन खत्म हो गई है। इससे मजबूरन यहां टीकाकरण की प्रक्रिया ठप हो गई है। कुछ अन्य जिलों में भी वैक्सीन लगभग खत्म होने की बात कही जा रहा है। 

संबंधित खबरें