फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News महाराष्ट्रउद्धव की शिवसेना में फिर सेंध लगाएंगे शिंदे? 6 सांसदों के संपर्क में होने का दावा

उद्धव की शिवसेना में फिर सेंध लगाएंगे शिंदे? 6 सांसदों के संपर्क में होने का दावा

म्हस्के ने दलबदल रोधी कानून का हवाला देते हुए दोनों लोकसभा सदस्यों का नाम बताने से इनकार किया, लेकिन कहा कि चार अन्य सांसद भी जल्द ही इन दोनों के साथ मिलकर शिंदे की पार्टी में शामिल हो जाएंगे।

उद्धव की शिवसेना में फिर सेंध लगाएंगे शिंदे? 6 सांसदों के संपर्क में होने का दावा
Amit Kumarएजेंसियां,मुंबईSat, 08 Jun 2024 06:30 PM
ऐप पर पढ़ें

शिवसेना ने शनिवार को दावा किया कि शिवसेना (यूबीटी) के दो नवनिर्वाचित सांसद मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के संपर्क में हैं। यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शिवसेना के प्रवक्ता नरेश म्हस्के ने दलबदल रोधी कानून का हवाला देते हुए दोनों लोकसभा सदस्यों का नाम बताने से इनकार किया, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि चार अन्य सांसद भी जल्द ही इन दोनों के साथ मिलकर शिंदे के नेतृत्व वाली पार्टी में शामिल हो जाएंगे।

ठाणे से नवनिर्वाचित सांसद म्हस्के ने कहा, ''जिस तरह से उद्धव ठाकरे ने एक विशेष समुदाय से वोट मांगे हैं, उससे लोकसभा के दोनों सदस्य नाखुश हैं।'' म्हस्के ने कहा कि उद्धव ठाकरे की शिवसेना के दो नवनिर्वाचित सांसद संपर्क में हैं तथा चार अन्य सांसद उनके साथ जुड़ेंगे और मनोनीत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का समर्थन करेंगे। उनकी टिप्पणी शिवसेना नेता संजय राउत के इस दावे की पृष्ठभूमि में आई है कि शिंदे गुट के कुछ विधायक और सांसद ठाकरे के साथ फिर से जुड़ने के इच्छुक हैं। एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना ने राज्य की सात लोकसभा सीट जीतीं, जबकि ठाकरे गुट नौ सीट पर विजयी रहा।

शिवसेना (यूबीटी) के नेता हमारी पार्टी में हो सकते हैं शामिल: एकनाथ शिंदे के समर्थक

इससे पहले शिवसेना के विधायक संजय शिरसाट ने शुक्रवार को दावा किया कि अगले कुछ दिनों में प्रतिद्वंद्वी शिवेसना (यूबीटी) के कुछ नेता उनकी पार्टी में शामिल होंगे। उन्होंने शिवसेना (यूबीटी) के सांसद संजय राउत को उद्धव ठाकरे के इस धड़े में गिरावट की वजह भी बताया। शिरसाट ने पत्रकारों से कहा, ‘‘शिवसेना (यूबीटी) के कुछ महत्वपूर्ण लोग 10 जून से पहले हमारी पार्टी में शामिल होंगे।’’

लोकसभा चुनाव के बाद शिवसेना (यूबीटी) के कुछ नेताओं ने दावा किया था कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की शिवसेना के पांच-सात विधायक शीघ्र ही पाला बदल लेंगे। इस चुनाव में महाराष्ट्र में विपक्षी गठबंधन ने सत्तारूढ़ गठबंधन से अच्छा प्रदर्शन किया है। शिरसाट ने उन्हें (शिवसेना यूबीटी के नेताओं को) उन विधायकों के नामों का खुलासा करने की चुनौती दी। उन्होंने कहा, ‘‘ यह खबर बस अपने विधायकों को पार्टी छोड़ने से रोकने के लिए फैलायी गयी थी।’’ शिरसाट के दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना (यूबीटी) के नेता सचिन अहीर ने कहा कि लोकसभा चुनाव आगे आने वाली चीजों का बस एक ‘ट्रेलर’ है।

अहीर ने कहा कि चुनाव के बाद न केवल शिंदे की अगुवाई वाली शिवसेना के, बल्कि अजित पवार के नेतृत्व वाली राकांपा के भी कुछ विधायक शिवसेना (यूबीटी) के संपर्क में हैं लेकिन उनकी पार्टी शायद ऐसे लोगों पर विचार नहीं करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें (शिरसाट को) अपनी पार्टी के विषयों को देखना चाहिए। विधानसभा चुनाव जल्द होने वाले हैं और आपने (सत्तारूढ़ गठबंधन को) (शिवसेना में विभाजन) के परिणाम भुगते हैं।’’

Advertisement